राजद्रोह और राष्ट्रद्रोह (या देशद्रोह) एक चीज़ नहीं हैं

राजद्रोह और राष्ट्रद्रोह (या देशद्रोह) एक चीज़ नहीं हैं। दोनों में ज़मीन-आसमान का फ़ासला है। फिर भी मीडिया का एक हिस्सा राजद्रोह के आरोपियों को देशद्रोही कहता है। यह शासन और उसकी विचारधारा की चापलूसी है। कन्हैया कुमार आदि (तत्कालीन) छात्रों पर राजद्रोह (धारा 124-ए) का मुक़दमा है। आजीवन क़ैद की सज़ा के प्रावधान वाला यह मुक़दमा शुरू से इतना कमज़ोर था कि कन्हैया की … पढ़ना जारी रखें राजद्रोह और राष्ट्रद्रोह (या देशद्रोह) एक चीज़ नहीं हैं

व्यक्तित्व – नफ़रत के खिलाफ़ हर आंदोलन का हिस्सा होते हैं “नदीम खान”

व्यक्तित्व में हम आज बात करेंगे नदीम खान की, देश की राजधानी दिल्ली में रहने वाले नदीम अपने सोशल वर्क और ज़मीनी सक्रियता से पिछले कुछ समय से सोशल एक्टिविज़्म का जाना माना चेहरा बन चुके हैं. मानव अधिकार से संबंधित कोई ऐसा मुद्दा नहीं मिलेगा जहाँ नदीम खान की मौजूदगी न हो. यूनाईटेड अगेंस्ट हेट नामक कैम्पेन को सफलता के साथ सुचारू रूप से … पढ़ना जारी रखें व्यक्तित्व – नफ़रत के खिलाफ़ हर आंदोलन का हिस्सा होते हैं “नदीम खान”

They cant scare us into silence!

They cant scare us into silence!  (My statement on the attempt on my life, yesterday) With the repeated death threats against my life, and having seen the assassinations of one activist after the other in the last few years, I somehow knew that someday a gun may be turned against me too. Dhabolkar, Kalburgi, Pansare, Gauri Lankesh…the list of assassinations has been ever-growing. But can … पढ़ना जारी रखें They cant scare us into silence!

नज़रिया – उमर खालिद पर हमला, खौफ पैदा करना चाहती हैं फासीवादी ताक़तें

Umar पे गोली से हमला करना फ़ासीवादियों  की बौखलाहट को दर्शाता है. मुंबई में हुई आतंकी गिरफ्तारियों से इनके इरादे समझ सकते हैं आप. ये नया नहीं है, महात्मा गांधी की हत्या से लेकर पंसारे, दाम्भोलकर और गौरी लंकेश की हत्या तक इन संघियों का यही चरित्र रहा है. खैर अल्लाह रब्बुल इज्ज़त ने उमर को बाल बाल बचाया. पर सोचियेगा, कि हर आवाज़ उठाने वाले … पढ़ना जारी रखें नज़रिया – उमर खालिद पर हमला, खौफ पैदा करना चाहती हैं फासीवादी ताक़तें

Mr. Modi, your storm troopers and lynch-mobs don’t scare us!

ABVP, via its proxy organization Vivekananda Vichar Manch, organized the screening of a movie about ‘Love Jihad’ today. The JNUSU had called for a protest against this screening objecting to the patriarchal and fascist propaganda. Mark my words here, it was a protest with a message ‘They Will Not Tell Us Whom to Love’. It was not a call for censorship. It was not a … पढ़ना जारी रखें Mr. Modi, your storm troopers and lynch-mobs don’t scare us!

“Yuva Hunkaar Rally: Uprising of New Opposition Politics?

Today, Newly independent elected MLA in Gujarat and Dalit leader, Jignesh Mevani, human rights activists and farmer leader of Asam, Akhil Gogoi and Bezwada Wilson, student leaders Umar Khalid and Shehla Rashid and many others are going to organize a rally against Union government in Parliament Street, New Delhi. Courtesy: The WireAccording to the hoardings of the rally, the theme is the questioning Modi government’s … पढ़ना जारी रखें “Yuva Hunkaar Rally: Uprising of New Opposition Politics?

वे डरते हैं, कि एक दिन लोग उनसे डरना बंद कर देंगे

भीमा कोरेगांव में दलितों पर हमले और उसके बाद महाराष्ट्र में घटी घटनाओं पर बयान मुझे महाराष्ट्र में एक कार्यक्रम के लिए और भी समाजसेवकों एवं बुद्धजीवियों के साथ बुलाया गया था. और हम सभी वहां मेहमान के तौर पर गए थे. मैं मुंबई और पुणे में मुझे मिले अपार समर्थन एवं प्यार को ताउम्र याद रखूंगा. मुझे वहां मौजूद लोगों के द्वारा मनुवादी ताकतों … पढ़ना जारी रखें वे डरते हैं, कि एक दिन लोग उनसे डरना बंद कर देंगे

A statement on the attacks on Dalits in Bhima Koregaon and subsequent incidents

I went to Maharashtra as I along with other activists and intellectuals were invited to come there. I along with others was a guest there. And I would remember fondly the love and support that I received in Pune and Mumbai. I would remember the resilience and enthusiasm of the people I met and their resoluteness to fight Manuvaad and centuries old casteist tyranny. I … पढ़ना जारी रखें A statement on the attacks on Dalits in Bhima Koregaon and subsequent incidents