असम, त्रिपुरा, मणिपुर, मेघालय में क्यों हो रहा है नागरिकता संशोधन बिल का विरोध?

मोदी सरकार ने नागरिकता संशोधन बिल को लोक सभा में पास करा लिया है। इसके प्रावधान के तहत पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में सताए गए वैसे हिन्दू, सिख, बौद्ध, पारसी और ईसाई को भारत में छह साल रहने के बाद नागरिकता दी जा सकती है जो 31 दिसंबर 2014 के पहले भारत आ गए थे। बांग्लादेशी घुसपैठ को लेकर बीजेपी की जो भी समझ रही … पढ़ना जारी रखें असम, त्रिपुरा, मणिपुर, मेघालय में क्यों हो रहा है नागरिकता संशोधन बिल का विरोध?

एक नागरिक का पयाम, लेफ़्ट फ्रंट के नाम

केंद्र में साढ़े तीन बरस और दीगर राज्यों में लगभग डेढ़ दशकों के झूठ, फ़रेब, मक्कारी, औरत विरोधी, अमीरपरस्त- ग़रीब विरोधी, नफ़रत, ख़ून ख़राबा, ग़ैर संवैधानिक आचरण और देश को दुनिया में शर्मशार करने वाली, पूंजीवादी बर्बरता के पुख़्ता और ज़िन्दा सुबूत होने के बावजूद त्रिपुरा में भ्रष्ट और तानाशाही के हाथों  “आपकी” ऐसी हार ..! वैसे तो जम्हूरियत ( लोकतंत्र ) के भीतर चुनाव … पढ़ना जारी रखें एक नागरिक का पयाम, लेफ़्ट फ्रंट के नाम

ये है न्यू इंडिया की ‘बुलडोज़र मानसिकता’

दोहरे आचरण का बड़ा उदाहरण सबके सामने है, संघ पदाधिकारी और भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव ने लेनिन की प्रतिमा गिराने की घटना पर ट्वीट कर कहा : “लोग लेनिन की मूर्ति गिराए जाने की चर्चा कर रहे हैं, रूस नहीं ये त्रिपुरा है, चलो पलटाई !” बाद में बवाल होने पर ट्वीट डिलीट कर दिया ! उसके बाद तमिलनाडु में भारतीय जनता पार्टी … पढ़ना जारी रखें ये है न्यू इंडिया की ‘बुलडोज़र मानसिकता’

बुतों की राजनीति में लेनिन और पेरियार के बाद मुखर्जी

त्रिपुरा में भाजपा की जीत के बाद बेलोनिया टाउन में कॉलेज स्क्वेयर स्थित रूसी क्रांति के नायक व्लादिमीर लेनिन की मूर्ति तोड़ने के बाद सियासत काफी गरमा गई है. इस घटना के बाद मंगलवार रात तमिलनाडु में पेरियार और फिर कोलकाता में श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ति को नुकसान पहुंचाया गया है. गौरतलब है कि त्रिपुरा में लेनिन की मूर्ति गिराए जाने के बाद भाजपा … पढ़ना जारी रखें बुतों की राजनीति में लेनिन और पेरियार के बाद मुखर्जी

पत्रकार शांतनु भौमिक की हत्या के पीछे कौन ?

दिनरात चैनल के पत्रकार शांतनु भौमिक की त्रिपुरा में हत्या में किसका हाथ? IPFT पिछले कई दिनों से आंदोलन कर रहा था। कल CPM के संगठन TRUGP और IPFT में झड़प हो गई। शांतनु भौमिक वही कवर कर रहे थे। IPFT के समर्थकों ने शांतनु पर हमला किया। फिर अपहरण कर लिया। पुलिस को जब घायल अवस्था में शांतनु मिले तो उन्हें अगरतल्ला के अस्पताल … पढ़ना जारी रखें पत्रकार शांतनु भौमिक की हत्या के पीछे कौन ?

त्रिपुरा के मुख्यमंत्री माणिक सरकार का वह भाषण,जिसे आकाशवाणी ने प्रसारित करने से मना कर दिया था

त्रिपुरा के मुख्यमंत्री माणिक सरकार का वह भाषण जिसे भारत के संघीय ढाँचे के सिद्धांतों का नग्न उल्लंघन करते हुए स्वतंत्रता दिवस के मौक़े पर आकाशवाणी ने प्रसारित करने से इंकार कर दिया : त्रिपुरा के प्रियजनो, स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर आप सबका अभिनंदन और सबको शुभकामनाएं । मैं भारत के स्वतंत्रता आंदोलन के शहीदों की अमर स्मृतियों को श्रद्धांजलि देता हूँ । उन … पढ़ना जारी रखें त्रिपुरा के मुख्यमंत्री माणिक सरकार का वह भाषण,जिसे आकाशवाणी ने प्रसारित करने से मना कर दिया था