पहले चोरी, फिर फोटोकॉपी और अब तीन पन्ने छूट गए हुज़ूर

इस सरकार में सबसे अधिक धर्मसंकट में अगर कोई है तो देश के अटॉर्नी जनरल और सॉलिसिटर जनरल हैं। यह धर्म संकट राफेल मामले में सुप्रीम कोर्ट में हो रही सुनवायी को लेकर है। सरकार राफेल मामले में फंसी पड़ी है। पीएमओ ने सारी प्रक्रिया को ताक पर रख कर एक डिफाल्टर पूंजीपति को दसॉल्ट का ऑफसेट पार्टनर बनाने के लिये समानांतर बातचीत की जिसकी … पढ़ना जारी रखें पहले चोरी, फिर फोटोकॉपी और अब तीन पन्ने छूट गए हुज़ूर

अयोध्या मामला – सुप्रीम कोर्ट का मध्यस्ता का फ़ैसला

सुप्रीम कोर्ट ने रामजन्मभूमि बाबरी मस्जिद ( Ram janmbhumi and babri masjid ) मामले में मध्यस्थता कराने का निर्णय लिया है. सुप्रीम कोर्ट ( Supreme Court ) ने मध्यस्थों का एक पैनल बनाया है जिसके प्रमुख सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज जस्टिस एफएम खलीलुल्लाह, होंगे और दो सदस्य, श्री श्री रविशंकर और वरिष्ठ एडवोकेट श्रीराम पांचू होंगे। मध्यस्थता की कार्यवाही से सुप्रीम कोर्ट ने मीडिया … पढ़ना जारी रखें अयोध्या मामला – सुप्रीम कोर्ट का मध्यस्ता का फ़ैसला

8 मार्च को सुप्रीम कोर्ट अयोध्या मामले में मध्यस्थता पर निर्णय देगा

अयोध्या मामला भले ही कानूनी रूप से एक भूमि के टाइटिल सूट का मामला हो, पर यह एक टाइटिल सूट का मामला होते हुए भी बहुत ही संवेदनशील मामला है। इसका एक और सर्वमान्य हल मध्यस्थता भी है। सुप्रीम कोर्ट ने इस समाधान को भी आजमाने के लिए सुनवायी की और 8 मार्च को इसी विंदु पर अपना निर्णय देने जा रही है। इसके साथ … पढ़ना जारी रखें 8 मार्च को सुप्रीम कोर्ट अयोध्या मामले में मध्यस्थता पर निर्णय देगा

खोजी पत्रकारिता चोरी नहीं है, यह चोरी उजागर करने का एक नेक माध्यम है

राफेल मामले ( Rafale Scam case )  में प्रशांत भूषण  की पुनर्विचार याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ( Supreme Court) में आज 6 मार्च को सुनवायी होनी थी। नियत समय पर सुनवायी शुरू भी हुयी। प्रशांत भूषण ने अपना पक्ष रखते हुए अंग्रेजी अखबार द हिन्दू ( The hindu )  में छपे एक लेख का हवाला दिया और यह कहा कि भारतीय समझौता दल की बातचीत … पढ़ना जारी रखें खोजी पत्रकारिता चोरी नहीं है, यह चोरी उजागर करने का एक नेक माध्यम है

जब संस्थाएं दीवार की तरह गिरती हैं, तो उनके मलबे में धीरे-धीरे सब दब जाता है

जब संस्थाएं दीवार की तरह गिरती हैं, तो उनके मलबे में धीरे-धीरे सब दब जाता है … सबसे पहले शुरुआत तार्किकता से होती है, फिर उसकी जगह न्याय का प्राकृतिक सिद्धांत ले लेता है. सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा इस गिरावट को समझने के लिए एकदम मुफीद उदाहरण हैं. परद -दर परत प्याज के छिलकों की तरह इस सड़न की बदबू अखबार में सुर्खियों के शक्ल … पढ़ना जारी रखें जब संस्थाएं दीवार की तरह गिरती हैं, तो उनके मलबे में धीरे-धीरे सब दब जाता है

मोदी सरकार के झूठ की पराकाष्ठा है, कोर्ट में दायर हलफनामा

सुप्रीम कोर्ट हो या कोई भी कोर्ट, हलफनामा हो या कोई भी कागज, यह सरकार का कोई मंत्री नहीं देखता है। यह उस विभाग का सचिव अगर मामला बहुत महत्वपूर्ण रहा तो वह देखता है या संयुक्त सचिव। हलफनामे में क्या जाएगा, क्या भाषा होगी, सरकार के पक्ष के अनुसार उसे ड्राफ्ट किया जाता है फिर दस्तावेजों के आलोक मे उसे निखारा जाता है, यह … पढ़ना जारी रखें मोदी सरकार के झूठ की पराकाष्ठा है, कोर्ट में दायर हलफनामा

नज़रिया – धर्मसंसद का अधार्मिक बयान

दिल्ली, रामलीला मैदान में आयोजित धर्म संसद ने विश्व हिन्दू परिषद का यह बयान आपत्तिजनक और आतंकवाद के वायरस से संक्रमित है। यह बयान संविधान, कानून और विधि द्वारा स्थापित न्यायपालिका को खुली चुनौती है। रैली में कहा गया है कि ” हम हथियार उठाएंगे अगर सुप्रीम कोर्ट का फैसला हमारे खिलाफ हुआ । “ यह बयान अदालत की अवमानना है या नही यह तो … पढ़ना जारी रखें नज़रिया – धर्मसंसद का अधार्मिक बयान

क्या अमित शाह सुप्रीम कोर्ट को धमकी दे रहे हैं ?

अमित शाह भले ही एक राजनीतिक शख्सियत हों पर उनके भाषण, उनके बोलने का ढंग, गुजरात मे गृह मंत्री रहते हुये उनके क्रिया कलाप, उनका आचरण और उनसे जुड़े आपराधिक मामले और विवाद  उनकी अलग ही तस्वीर प्रस्तुत करते हैं। गुजरात मे उनके ऊपर एक महिला की जासूसी कराने, कुछ चुनिंदा पुलिस अफसरों का एक गिरोह बना कर फ़र्ज़ी मुठभेड़ें कराने के आरोप लग चुके … पढ़ना जारी रखें क्या अमित शाह सुप्रीम कोर्ट को धमकी दे रहे हैं ?

कर्नाटक मामले में सुप्रीम कोर्ट वही कहेगा जो 2005 में झारखंड मामले में कह चुका है?

कर्नाटक राज्यपाल के फैसले और वहां सरकार बनाने की दावेदारी के संदर्भ में शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में महत्वपूर्ण सुनवाई होनी है। इसके पहले आपको 2005 में झारखंड मामले में सुप्रीम कोर्ट की तीन जजों की बेंच के फैसले और बहस के दौरान मुकुल रोहतगी और अभिषेक मनु सिंघवी की दलील को पढ़ लीजिए, आप तीन दिनों तक बिस्तर से नहीं उठेंगे कि नेता और … पढ़ना जारी रखें कर्नाटक मामले में सुप्रीम कोर्ट वही कहेगा जो 2005 में झारखंड मामले में कह चुका है?

भारत बंद का व्यापक असर, मध्यप्रदेश में 3 प्रदर्शनकारियों की मौत

SC/ST  एक्ट में बदलाव के बाद दलित एवं आदिवासी संगठनों द्वारा बुलाया गया भारत बंद के आह्वान के बाद पूरे देश में बंद का व्यापक असर देखा गया है. देश के अलग–अलग हिस्सों से बंद की विभिन्न विभिन्न तरह की तस्वीरें सामने आ रही हैं. उत्तरप्रदेश, बिहार, मध्यप्रदेश, हरियाणा, राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र से बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन की ख़बरें आ रही हैं. इस बंद … पढ़ना जारी रखें भारत बंद का व्यापक असर, मध्यप्रदेश में 3 प्रदर्शनकारियों की मौत

इस तरह आस्तित्व में आया भारत का सुप्रीम कोर्ट

भारत विश्व का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है जहाँ अनेक धर्म, रंग, जाति के लोग साथ रहते है ऐसे में सभी लोगों के अधिकरो की पूर्ति, समानता -स्वतंत्रता को सुनिश्चित करने के लिए ,मतभेदों को सुलझाने और न्याय दिलाने के लिए स्वतंत्र एवं निष्पक्ष न्यायालय की आवश्यकता महसूस हुई ,100 करोड़ से अधिक लोगो का विश्वास प्राप्त किए हुए ऐसी संस्था का निर्माण करना जो … पढ़ना जारी रखें इस तरह आस्तित्व में आया भारत का सुप्रीम कोर्ट

दागियों पर सख्त हुआ सुप्रीम कोर्ट

देश की सर्वोच अदालत के एक सवाल किया और केंद्र से इसका जबाब भी माँगा गया, इससे राजनीतिक पार्टियों में हलचल मचा दी.  सुप्रीम कोर्ट ने सवाल किया है कि आपराधिक मामले में दोषी ठहराया जा चुका और सजायाफ्ता शख्स कैसे किसी राजनीतिक दल का प्रमुख बन सकता है? कोर्ट ने आगे भी कहा कि, जो खुद चुनाव लड़ने के लिए अयोग्य हो चुका है, … पढ़ना जारी रखें दागियों पर सख्त हुआ सुप्रीम कोर्ट

तो आयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले को ही मानेगा AIMPB

अयोध्या में राम मंदिर विवाद को सुलझाने का कार्य दो स्तरों पर किया जा रहा है एक न्यायालय के भीतर व दूसरा धार्मिक गुरुओं की अनौपचारिक बैठकों में। जहां न्यायालय में कानूनी दलीलों,तथ्यों, गवाहों के आधार पर मुद्दे को एक अंजाम तक पहुंचाने की कवायत होती है वही धार्मिक अखाड़ों में हिन्दू मुस्लिम की आपसी सहमति को बनाने के प्रयास किये जा रहे है। इसी … पढ़ना जारी रखें तो आयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले को ही मानेगा AIMPB

आज से शुरू होगी बाबरी मस्जिद- राम मंदिर विवाद की सुनवाई

देश के सबसे सवेंदनशील मामले राम मंदिर व बाबरी मस्जिद की जमीन पर मालिकाना हक के लिए विवाद पर आज सुनवाई होने जा रही है. शीर्ष अदालत में इस साल यह सबसे अहम मामला है, जिस पर सबसे ज्यादा लोगों की निगाहें होंगी. यह सुनवाई बहुत महत्वपूर्ण मानी जा रही है क्योंकि प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली विशेष पीठ ने सुन्नी वक्फ बोर्ड … पढ़ना जारी रखें आज से शुरू होगी बाबरी मस्जिद- राम मंदिर विवाद की सुनवाई

हादिया की आज़ादी पर सुप्रीम कोर्ट की मुहर

मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली तीन न्यायाधीशों की एक बेंच ने मंगलवार को कहा कि हादिया की वैवाहिक स्थिति राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) जांच के दायरे से परे थी. सुनवाई के दौरान, बेंच ने कहा, “विवाह को आपराधिक गतिविधि से अलग होना चाहिए, अन्यथा हम एक खराब मिसाल पैदा करेंगे” #Hadiya hearing in the Supreme Court #OneSliderBB pic.twitter.com/5XHkWRSHtB — Bar & Bench (@barandbench) … पढ़ना जारी रखें हादिया की आज़ादी पर सुप्रीम कोर्ट की मुहर

दूसरी बेंच के पास भेजा सकता है, जज लोया का केस

सुप्रीम कोर्ट  के 4 सीनियर जजों के चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया पर लगाए गए आरोपों के बाद से जारी विवादों के बीच अब जस्टिस बी. एच. लोया की संदिग्ध मौत का मामला सुप्रीम कोर्ट की किसी दूसरी बेंच में जा सकता है.   मंगलवार को इस मामले की सुनवाई कर रहे जस्टिस अरुण मिश्रा ने ऐसे संकेत दिए हैं. सुप्रीम कोर्ट की वेबसाइट पर 16 जनवरी को … पढ़ना जारी रखें दूसरी बेंच के पास भेजा सकता है, जज लोया का केस

Read Full Letter Submitted by 4 Senior SC Judge to CJI

First time in the history, four Supreme Court senior judges released a press against the chief justice of India, by saying that events in SC left them with no choice but to address the nation. Justice J Chelameshwar said the administration of the nation’s top court was not in order. He said this was an extraordinary event in the history of the institution, and that … पढ़ना जारी रखें Read Full Letter Submitted by 4 Senior SC Judge to CJI

इतिहास में पहली बार सुको जज की प्रेस कांफ्रेंस, कहा- नहीं बोले तो लोकतंत्र खत्म हो जाएगा

आज के दिन को भारतीय इतिहास में काला दिन कहूं या उज्जला ये तो समझ नहीं आ रहा, पर ये दिन ऐतिहासिक तो है. ऐतिहासिक इसलिए कि पहली बार कोई बालने की जहमत उठा रहा है, वो  भी न्यायपालिका के खिलाफ खुलकर. आज सुप्रीम कोर्ट के चार सीनियर जज ये कहते हुए प्रेस कांफ्रेस करते हुए आ गये कि अन्दर हमारी बात नहीं सुनी जा … पढ़ना जारी रखें इतिहास में पहली बार सुको जज की प्रेस कांफ्रेंस, कहा- नहीं बोले तो लोकतंत्र खत्म हो जाएगा

Supreme Court postponed the Babri Masjid case till 8 February.

Kapil Sibal a prominent lawyer most of the time we have seen him handle crucial cases in High Court and Supreme Court as well. Now he was presenting Sunni Waqf Board in the Supreme Court in the matter of Ayodhya case. He submitted a plea to defer the hearing of Ayodha case up to 2019 Lok-Sabha election as the atmosphere was not pertinent. Followed this … पढ़ना जारी रखें Supreme Court postponed the Babri Masjid case till 8 February.

सोशल मीडिया में क्यों छाया हुआ है, #BraveHadiya ट्रेन्ड

कल से सोशल मीडिया में एक नाम खूब घूम रहा है, कोई Twitter में तो कोई फ़ेसबुक मे #BraveHadiya हैज़टैग का यूज़ कर रहा है. क्या आप जानते हैं,कौन है हादिया और क्यों Top ट्रेन्ड में रहा #BraveHadiya. दरअसल अखिला से हादिया बनीं 24 वर्षीय मेडिकल स्टूडेंट हादिया के इस्लाम धर्म अपनाने के बाद की गई शादी को केरल हाई कोर्ट ने ‘लव जिहाद’ का … पढ़ना जारी रखें सोशल मीडिया में क्यों छाया हुआ है, #BraveHadiya ट्रेन्ड