जब मोदी सरकार की अनुमति से पठानकोट एयरबेस में हुआ था आईएसआई का प्रवेश

नौसेना के जहाज पर, राजीव गांधी के साथ, विदेशी नागरिक गये थे या नहीं इस पर अलग अलग खबरें आ रही हैं। सरकार ही सच क्या है बता सकती है। सरकार को सच की जांच करके बताना चाहिये। करदाताओं और नागरिकों का यह अधिकार है कि राजकीय धन, साधन आदि के दुरूपयोग पर सभी तथ्यों से अवगत रहें। वैसे भी सभी रक्षा प्रतिष्ठान विशेष सुरक्षित … पढ़ना जारी रखें जब मोदी सरकार की अनुमति से पठानकोट एयरबेस में हुआ था आईएसआई का प्रवेश

मोदी के राजीव के अंत वाले बयान पर प्रियंका ने दिया जवाब

लोकसभा चुनाव 2019 ( Loksabha Election 2019 )  में सभी पार्टियाँ जीत के लिए सारे पैतरें आज़मा रही हैं. 4 चरण की वोटिंग हो चुकी है और कल ( 6 मई ) को पांचवे व 12 मई को छटवे और 19 मई को सातवें चरण की वोटिंग होगी. 23 मई को परिणाम आने के बाद नै सरकार के गठन की कवायद चालु हो जाएगी. अब … पढ़ना जारी रखें मोदी के राजीव के अंत वाले बयान पर प्रियंका ने दिया जवाब

कैसे रची थी लिट्टे ने राजीव गांधी की हत्या की साजिश

भारत के सबसे युवा प्रधानमंत्री राजीव गांधी की आज 27 वी पुण्यतिथि है.श्रीपेरंबुदूर में 21 मई 1991 को हुए हमले में भारत ने राजीव गांधी के तौर पर एक होनहार नेता ही नहीं खोया, बल्कि यह भारत में पहला विदेशी आतंकवादी हमला भी था. राजीव गांधी की हत्या के पीछे श्रीलंकाई अलगाववादी संगठन लिट्टे का हाथ था. वेलुपिल्लै प्रभाकरण द्वारा 1976 में स्थापित इस संगठन का … पढ़ना जारी रखें कैसे रची थी लिट्टे ने राजीव गांधी की हत्या की साजिश

गुरिल्ला युद्ध में माहिर थे, अलगाववादी संगठन “लिट्टे” के लड़ाके

साल 1991 में पूर्व भारतीय प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या में लिप्त रहे श्रीलंका के उग्रवादी संगठन लिट्टे (LTTE) पर 14 मई 1992 के दिन भारत ने प्रतिबंध लगाया था.भारत ने गैरकानूनी गतिविधियां संबंधी अधिनियम के तहत लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम (लिट्टे) पर प्रतिबंध लगाया था. संगठन पर यूरोपीय संघ, कनाडा और अमेरिका में भी प्रतिबंध लगा हुआ है. गौरतलब है कि श्रीलंका के … पढ़ना जारी रखें गुरिल्ला युद्ध में माहिर थे, अलगाववादी संगठन “लिट्टे” के लड़ाके

भारत के सातवें राष्ट्रपति, जिनके कार्यकाल में हुआ था “ऑपरेशन ब्लू स्टार”

भारत के सातवें राष्ट्रपति ज्ञानी जैल सिंह का 5  मई शनिवार को 102 वां जन्मदिन है. ज्ञानी जैल सिंह का जन्म 5 मई 1916 को संधवान गांव जिला फरीदकोट पंजाब में हुआ था.उनके बचपन का नाम जरनैल सिंह था. ज्ञानी ज़ैल सिंह की स्कूली शिक्षा पूरी नहीं हो पाई. उन्होंने उर्दू सीखने की शुरूआत की, फिर पिता की राय से गुरुमुखी पढ़ने लगे. इसी बीच … पढ़ना जारी रखें भारत के सातवें राष्ट्रपति, जिनके कार्यकाल में हुआ था “ऑपरेशन ब्लू स्टार”

अपने स्कूल के दिनों में छुआछूत का शिकार हुये थे “बाबू जगजीवन राम”

जगजीवन राम – जिन्हें आम तौर पर बाबूजी के नाम से जाना जाता है एक राष्ट्रीय नेता स्वतंत्रता सेनानी, सामाजिक न्याय के योद्धा, दलित वर्गों के समर्थक, उत्कृष्ट सांसद, सच्चे लोकतंत्रवादी, उत्कृष्ट केंद्रीय मंत्री, योग्य प्रशासक और असाधारण मेधावी वक्ता थे. जगजीवन राम का जन्म शोभी राम और वसंती देवी के यहां 5 अप्रैल, 1908 को बिहार के शाहाबाद जिले अब भोजपुर के एक छोटे … पढ़ना जारी रखें अपने स्कूल के दिनों में छुआछूत का शिकार हुये थे “बाबू जगजीवन राम”

क्या भारत मालदीव में आये संकट पर 1988 की तरह दखल देगा?

मालदीव में राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन ने इमरजेंसी लगा दी है और सुप्रीम कोर्ट के प्रधान न्यायाधीश अब्दुल्ला सईद और पूर्व राष्ट्रपति मॉमून अब्दुल गयूम को जेल में डाल दिया है. सुप्रीम कोर्ट के तीन अन्य न्यायाधीशों ने डर कर यामीन के फैसलों पर स्वीकृति की मुहर लगा दी है. मालदीव में जारी इस राजनीतिक उठापटक के बीच राष्‍ट्रपति अब्‍दुल्‍ला यामीन की सरकार ने ‘मित्र देशों’ … पढ़ना जारी रखें क्या भारत मालदीव में आये संकट पर 1988 की तरह दखल देगा?