सिर्फ प्रज्ञा ठाकुर की आलोचना करना पर्याप्त नहीं है

प्रज्ञा ठाकुर की बात करते हुए खूब विवाद हुआ कि नाथूराम गोडसे को आतंकी माना जाए या नहीं. कमल हासन ने आतंकी बताया वहीं बाकी लोग उसे बस एक हत्यारा कह रहे थे. अगर हत्यारा भी मानें तो क्या हत्यारा होना ही अपने आप में बड़ा अपराध नहीं है? क्या इसके लिए आतंकी शब्द जुड़ना जरूरी है? हमारी संसद में आधे सांसदों पर क्रिमिनल चार्जेज … पढ़ना जारी रखें सिर्फ प्रज्ञा ठाकुर की आलोचना करना पर्याप्त नहीं है

मालेगांव ब्लास्ट की आरोपी प्रज्ञा ठाकुर ने दिग्विजय सिंह को हराया

पूरे देश की निगाहें यदि किसी सीट पर थी, तो वो सीट भोपाल थी. यह सीट बनारस से भी ज़्यादा चर्चा का विषय रही. इस सीट पर एक तरफ जहाँ मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह मैदान में थे, तो वहीं दूसरी ओर भाजपा ने मालेगांव ब्लास्ट की आरोपी प्रज्ञा ठाकुर को मैदान में उतारा था. भोपाल सीट से प्रज्ञा ठाकुर ने दिग्विजय सिंह को … पढ़ना जारी रखें मालेगांव ब्लास्ट की आरोपी प्रज्ञा ठाकुर ने दिग्विजय सिंह को हराया

हम एक अवैज्ञानिक और अनाड़ी भारत बना रहे हैं

बम फोड़कर भारतवासियों की जान लेने के मुक़दमे, जेल और ज़मानत भूल जाइए, जाँबाज़ शहीद अधिकारी को श्राप से मार डालने का दावा भी भुला दीजिए। लेकिन भोपाल की कथित साध्वी गाय पर हाथ फेर कर बीपी घटाने का टोटका प्रचारित कर रही हैं? तीन बार ऑपरेशन से बचने वाली मरीज़ गोमूत्र को कैंसर का इलाज बता रही है? हम कैसा भारत बनाने जा रहे … पढ़ना जारी रखें हम एक अवैज्ञानिक और अनाड़ी भारत बना रहे हैं

मालेगांव धमाके की मुल्जिम प्रज्ञा ठाकुर के बयान जा रहे बीजेपी के खिलाफ

अपने ‘राष्ट्रवाद’ में शहीदों और उनकी शहादत का खासा ख्याल करने वाली बीजेपी के लिए यह असहज होने का मौका था, जब उसे देश के लिए जान देने वाले एक शहीद के मुद्दे पर ही घिर जाना पड़ा । विपक्षी दलों के नेता शहीद के अपमान को मुद्दा बनाकर बीजेपी पर तीखे वार करते नजर आए। मामला, भोपाल से बीजेपी उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर … पढ़ना जारी रखें मालेगांव धमाके की मुल्जिम प्रज्ञा ठाकुर के बयान जा रहे बीजेपी के खिलाफ