मोदी सरकार के चार साल, झूठ और धर्मांधता के साल

मोदी सरकार के चार साल पूरे होने के दिन भी पेट्रोल और डीज़ल के दाम बढ़े हैं। 13 मई से 26 मई के बीच पेट्रोल के दाम में 3.86 रुपये और डीज़ल के दाम में 3.26 रुपये की वृद्धि हो गई है। कर्नाटक चुनाव ख़त्म होते ही अख़बारों ने लिख दिया था कि चार रुपये प्रति लीटर दाम बढ़ेंगे, करीब करीब यही हुआ है। यानी … पढ़ना जारी रखें मोदी सरकार के चार साल, झूठ और धर्मांधता के साल

नीरव मोदी को नहीं है, जांच एजेंसियों का डर

नीरव मोदी भले ही नरेंद्र मोदी न हो मगर नरेंद्र मोदी की जांच एजेंसियों से नहीं डरता है। पत्र लिखता है। हे भारतत्यागी नीरव मोदी, प्रेरक पत्र के लिए शुक्रिया। आज जांच एजेंसियों में समोसे बंटेंगे कि जिस नीरव मोदी तक वे नहीं पहुंच सके, उस नीरव मोदी का पत्र जन-जन तक पहुंच गया। आपने वाकई इन जांच एजेंसियों का ब्रांड ऊंचा कर दिया है। … पढ़ना जारी रखें नीरव मोदी को नहीं है, जांच एजेंसियों का डर

गुजरात में मिल्क मार्केट क्रैश, यूपी में गन्ना किसानों को नहीं मिल रहा पैसा

चीनी मील नहीं चुका रहे हैं कि गन्ना किसानों का पैसा, बकाया रिकार्ड स्तर पर बिजनेस स्टैंडर्ड के बृजेश भयानी ने लिखा है कि चीनी मीलों का गन्ना किसानों पर बक़ाया अपने सर्वाधिक स्तर पर पहुंच गया है। इतना कभी नहीं था। चीनी मीलों को 95.76 अरब रुपये चुकाने हैं। 2012 में 78 अरब तक पहुंच गया था। उत्तर प्रदेश के किसानों का चीनी मीलों … पढ़ना जारी रखें गुजरात में मिल्क मार्केट क्रैश, यूपी में गन्ना किसानों को नहीं मिल रहा पैसा

व्यंग – किम जोंग लैंड कर गया छत्तीसगढ़ के कोरिया में

एक दिन की बात है। किम जोंग अपनी मिसाइल पर बैठा कहीं जा रहा था। अचानक आसमान में कोहरा बढ़ा तो रास्ता दिखना बंद हो गया। माचिस जला नहीं सकता था काहे कि मिसाइल पर बैठा था। किम जोंग ने गूगल मैप में कोरिया डाला और उसका जहाज़ रायपुर में लैंड कर गया। वहां से उसने ओला लिया और उसकी कार पहुंच गई कोरिया। गूगल … पढ़ना जारी रखें व्यंग – किम जोंग लैंड कर गया छत्तीसगढ़ के कोरिया में

जो हम पर ईमान ना लाए चुनवा दो दीवारों में

इंकलाबी सरजमीं मेरठ के इंकलाबी शायर मरहूम हफीज मेरठी साहब का एक शेर है- आज ये तय पाया है हूकुमत के इजारेदारों में जो हम पर ईमान ना लाए चुनवा दो दीवारों में हफीज साहब ने ये लाइनें तब कहीं थीं, जब जून 1975 में इमरजेंसी लगी थी और उसका विरोध करने वालों को जेल में डाल दिया गया था। तब हफीज साहब ने यह … पढ़ना जारी रखें जो हम पर ईमान ना लाए चुनवा दो दीवारों में