वो शख्स जिसने दिया था इंकलाब ज़िंदाबाद का नारा

एक ऐसा शख़्स जिसने फ़क़ीरी और दरवेशी में अपनी ज़िंदगी गुज़ार दी, जिसका टूटा फूटा मकान था जिसमें टाट का पर्दा लगा रहता था। जिसके पास एक मैला-कुचैला थैला रहा करता था। उस थैले में फटे पुराने कपड़े, एक लोटा और चंद कागज़ात रहा करते थे। जो शख़्स जब संविधान सभा की बैठक में आता तो संसद के सामने एक टूटी सी मस्जिद में अपना … पढ़ना जारी रखें वो शख्स जिसने दिया था इंकलाब ज़िंदाबाद का नारा

“हसरत मोहानी”, जिन्होंने दिया था “इंक़लाब ज़िंदाबाद” का नारा

“इंकिलाब ज़िंदाबाद” जब ये नारा बोला जाता है, तो तमाम आंदोलन और तमाम विरोध एक साथ सिर्फ एक धागे में पिरो दिए जाते है,और इस नारे के जनक का ही आज जन्मदिन है। आज मौलाना हसरत मोहानी जी का जन्मदिन है आज ही के दिन इस महान स्वंतत्रता सेनानी,पत्रकार और हिंदी ग़ज़ल कहने वाली अज़ीम शख्सियत की पैदाइश हुई थी। मौलाना हसरत मोहानी साहब का … पढ़ना जारी रखें “हसरत मोहानी”, जिन्होंने दिया था “इंक़लाब ज़िंदाबाद” का नारा