22 साल की उमर में विधुर हो गए थे महाकवि निराला

‘निराला’ हिंदी साहित्य का एक ऐसा व्यक्तित्व, जिनका नाम सामने आते ही आम जनमानस श्रद्धा से नतमस्तक हो जाता है. 21 फरवरी, 1896 (11 माघ शुक्ल, संवत 1953) को बंगाल के मेदिनीपुर जिले के महिषादल रियासत में सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’ का जन्म हुआ था, मगर वसंत पंचमी को उनका जन्मदिन मनाया जाता है. निराला’ अपना जन्म-दिवस वसंत पंचमी को ही मानते थे. माता-पिता से उन्हें … पढ़ना जारी रखें 22 साल की उमर में विधुर हो गए थे महाकवि निराला