राजद्रोह और राष्ट्रद्रोह (या देशद्रोह) एक चीज़ नहीं हैं

राजद्रोह और राष्ट्रद्रोह (या देशद्रोह) एक चीज़ नहीं हैं। दोनों में ज़मीन-आसमान का फ़ासला है। फिर भी मीडिया का एक हिस्सा राजद्रोह के आरोपियों को देशद्रोही कहता है। यह शासन और उसकी विचारधारा की चापलूसी है। कन्हैया कुमार आदि (तत्कालीन) छात्रों पर राजद्रोह (धारा 124-ए) का मुक़दमा है। आजीवन क़ैद की सज़ा के प्रावधान वाला यह मुक़दमा शुरू से इतना कमज़ोर था कि कन्हैया की … पढ़ना जारी रखें राजद्रोह और राष्ट्रद्रोह (या देशद्रोह) एक चीज़ नहीं हैं

व्यक्तित्व – नफ़रत के खिलाफ़ हर आंदोलन का हिस्सा होते हैं “नदीम खान”

व्यक्तित्व में हम आज बात करेंगे नदीम खान की, देश की राजधानी दिल्ली में रहने वाले नदीम अपने सोशल वर्क और ज़मीनी सक्रियता से पिछले कुछ समय से सोशल एक्टिविज़्म का जाना माना चेहरा बन चुके हैं. मानव अधिकार से संबंधित कोई ऐसा मुद्दा नहीं मिलेगा जहाँ नदीम खान की मौजूदगी न हो. यूनाईटेड अगेंस्ट हेट नामक कैम्पेन को सफलता के साथ सुचारू रूप से … पढ़ना जारी रखें व्यक्तित्व – नफ़रत के खिलाफ़ हर आंदोलन का हिस्सा होते हैं “नदीम खान”

जेएनयू से संदेश – एक नया ध्रुवीकरण बन रहा है

मैं हमेशा मानता रहा हूँ कि जेएनयू का आइडियलिज़्म बाहर की दुनिया से मेल नहीं खाता है – इसीलिये वहां के चुनाव को कैंपस के बाहर की राजनीति का बैरोमीटर नहीं माना जा सकता है. लेकिन नरेंद्र मोदी के दिल्ली आने के बाद मैंने इस धारणा पर नए सिरे से सोचना शुरू किया. प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी और आरएसएस और बीजेपी की नई व्यवस्था … पढ़ना जारी रखें जेएनयू से संदेश – एक नया ध्रुवीकरण बन रहा है

नज़रिया – JNU छात्र संघ चुनाव हारकर भी कुछ यूं जीत गई ABVP

जेएनयू के छात्र संघ चुनाव में एबीवीपी ने जिस तरह से हिंसा फैलाई वो हम सभी के सामने है और यह भविष्य के लिए एक ख़तरनाक संकेत भी है। जो लोग यह सोच रहे हैं के एबीवीपी ने चुनाव जीतने के लिए ऐसा किया या एबीवीपी हार से बौखला गयी थी इसलिए ऐसा किया,तो वो लोग बहुत बड़े भ्रम में है, क्यों के एबीवीपी ऐसा … पढ़ना जारी रखें नज़रिया – JNU छात्र संघ चुनाव हारकर भी कुछ यूं जीत गई ABVP

They cant scare us into silence!

They cant scare us into silence!  (My statement on the attempt on my life, yesterday) With the repeated death threats against my life, and having seen the assassinations of one activist after the other in the last few years, I somehow knew that someday a gun may be turned against me too. Dhabolkar, Kalburgi, Pansare, Gauri Lankesh…the list of assassinations has been ever-growing. But can … पढ़ना जारी रखें They cant scare us into silence!

नज़रिया – JNU प्रशासन सत्ता में बैठी भाजपा और RSS के इशारे पर काम कर रहा है

अभी हाल में मेरे ऊपर और मेरे कुछ साथियों के ऊपर जो सज़ा RSS/BJP के पिट्ठु JNU के अधिकारियों ने सुनाई है उसके बारे में। एक बार फिर भाजपा और गोदी मीडिया बहुत उत्साहित है JNU के स्टूडेंट्स को अपराधी साबित करने में। इस बार बहाना है JNU प्रसाशन की ‘हाई लेवल’ जाँच समिति का आदेश। जिसमें उनका दावा है के उनकी कल्पना हक़ीक़त हो … पढ़ना जारी रखें नज़रिया – JNU प्रशासन सत्ता में बैठी भाजपा और RSS के इशारे पर काम कर रहा है

आप JNU, BHU, TISS के लिए बोलोगे, पर AMU के लिए नहीं

कुछ एक सेक्युलर लोगों को छोड़कर, देश के लिबरल-लेफ़्ट, प्रोग्रेसिव (Islamophobic Muslims, Self-hating Muslims, और Majoritarian Muslim Apologists अलग से शामिल हैं..) का पूरा का पूरा जमावड़ा न तो JNU में नजीब अहमद पर संघी हमले और उसके गायब होने, और बाद में नजीब के लिए इंसाफ मांग रही उसकी माँ के संघर्ष में शरीक हुआ. और अब AMU में संघियों का पुलिस के साथ … पढ़ना जारी रखें आप JNU, BHU, TISS के लिए बोलोगे, पर AMU के लिए नहीं

मोहित पाण्डेय पर हमला करने वाले कौन लोग हैं?

मोहित और मैंने नजीब के यूनिवर्सिटी गायब होने के बाद नजीब के आंदोलन में एक साथ काम करना शुरू किया था, उसके बाद से लगातार हम लोग साथ काम कर रहे है, नजीब के आंदोलन को देशव्यापी बनाने में जो कुछ गिने चुने लोग शामिल है. उसमे मोहित प्रमुख है मुझे याद है पिछले साल 8 फरवरी को जब बदायूं में इंसाफ मार्च था उस … पढ़ना जारी रखें मोहित पाण्डेय पर हमला करने वाले कौन लोग हैं?

Mr. Modi, your storm troopers and lynch-mobs don’t scare us!

ABVP, via its proxy organization Vivekananda Vichar Manch, organized the screening of a movie about ‘Love Jihad’ today. The JNUSU had called for a protest against this screening objecting to the patriarchal and fascist propaganda. Mark my words here, it was a protest with a message ‘They Will Not Tell Us Whom to Love’. It was not a call for censorship. It was not a … पढ़ना जारी रखें Mr. Modi, your storm troopers and lynch-mobs don’t scare us!

क्या दिल्ली पुलिस का सियासी इस्तेमाल किया जा रहा है ?

2 साल 4 महीने 9 दिन में नजीब की खबर न कर पाने वाली दिल्ली पुलिस, सीएम केजरीवाल के घर का रंग तक जानने के लिए 2 दिन में पहुंच गयी, यही लोकतंत्र है? आजाद भारत की राजनीति में जो बदलाव या अजूबापन पिछले दो-चार सालों से देखने को मिल रहा है, वह पहले कभी देखने को नहीं मिला, जिसमें ऐसे-ऐसे कारनामें देखने को मिले … पढ़ना जारी रखें क्या दिल्ली पुलिस का सियासी इस्तेमाल किया जा रहा है ?

वे डरते हैं, कि एक दिन लोग उनसे डरना बंद कर देंगे

भीमा कोरेगांव में दलितों पर हमले और उसके बाद महाराष्ट्र में घटी घटनाओं पर बयान मुझे महाराष्ट्र में एक कार्यक्रम के लिए और भी समाजसेवकों एवं बुद्धजीवियों के साथ बुलाया गया था. और हम सभी वहां मेहमान के तौर पर गए थे. मैं मुंबई और पुणे में मुझे मिले अपार समर्थन एवं प्यार को ताउम्र याद रखूंगा. मुझे वहां मौजूद लोगों के द्वारा मनुवादी ताकतों … पढ़ना जारी रखें वे डरते हैं, कि एक दिन लोग उनसे डरना बंद कर देंगे

छात्रों ने बनाई थी बिरयानी, जेएनयू प्रशासन ने लगाया जुर्माना

क्या किसी व्यंजन को बनाने और खाने पर भी जुर्माना हो सकता है. जी हाँ , ऐसा हुआ है दिल्ली की जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में कुछ छात्रों ने बिरयानी बनाई तो यूनिवर्सिटी प्रशासन ने उन पर 6000 रुपये का जुर्माना लगाया है. सुनने में हास्यास्पद लगता है, पर यह सत्य है. न सिर्फ जुर्माना लगाया गया है, बल्कि भाजपा नेता सुब्रमन्यम स्वामी ने तो … पढ़ना जारी रखें छात्रों ने बनाई थी बिरयानी, जेएनयू प्रशासन ने लगाया जुर्माना

Mother’s Battle against Saffron System

Today Monday 16th Oct was very important for Najeeb’s Ammi. After 30 Hrs long protest at CBI headquarters and verbal request and assurance by CBI DIG Mr. Daljeet Singh all were very hopeful for today’s hearing in Delhi High Court no 33. Around 11:00 am hearing of the case started and CBI’s Lawyer submitted the same report as earlier. It came as a shock to … पढ़ना जारी रखें Mother’s Battle against Saffron System

जेएनयू के छात्र नेता की आप बीती, कहा- “मुस्लिम होता तो यूपी पुलिस वाले एंकाउंटर कर डालते”

बीते 15 अक्टूबर को दिल्ली से सटे फ़रीदाबाद से एक जेएनयू छात्र नेता को बंदूक की नोक पर उत्तरप्रदेश पुलिस ने उठा लिया. छात्र नेता प्रदीप नरवाल का गुनाह ये था, कि वो जेएनयू के छात्र नेता हैं,  और भीम आर्मी के एक प्रोग्राम में शामिल हुए थे. दलित एवं मुस्लिमों पर होने वाले अत्याचारों के विरुद्ध कार्य कर रहे  प्रदीप नरवाल पूर्व में एबीवीपी … पढ़ना जारी रखें जेएनयू के छात्र नेता की आप बीती, कहा- “मुस्लिम होता तो यूपी पुलिस वाले एंकाउंटर कर डालते”

जेएनयू में लाल ही क्यों लहराता है, भगवा क्यों नहीं

गुस्सा थूंको , और सुनो मेरी बात । आखिर jnu में हर बार लेफ्ट क्यों जीतते हैं ? क्योंकि वहां दाखिला परीक्षा के आधार पर होता है , और सुपठित – सुचिंतित लड़के एडमिशन पा जाते हैं । वे लड़के सुपठित इसलिए होते हैं , क्योंकि उन्होंने वास्तविक इतिहास पढा होता है । वे जानते हैं कि फ़िरोज़ गांधी मुस्लिम नहीं , अपितु पारसी था … पढ़ना जारी रखें जेएनयू में लाल ही क्यों लहराता है, भगवा क्यों नहीं