फ़िल्म समीक्षा – हैदर के बचपन की कहानी है ” हामिद “

बचपन उम्र से तय होता है। बचपना कई सवालों की खोज होता है। मनोविज्ञान हमेशा ‘तलाश’ शब्द के इर्द गिर्द घूमती है। जो चीजें समझ नहीं आती बचपन उसके पीछे बेतरतीब हो कर भागता है। एक जवाब ढूंढते ही दूसरे सवाल के जवाब की तलाश में बचपना खोया रहता है। हामिद एक ऐसे कश्मीरी बच्चे की कहानी है। यहाँ शायद ‘एक’ कहना गलत होगा दरअसल … पढ़ना जारी रखें फ़िल्म समीक्षा – हैदर के बचपन की कहानी है ” हामिद “

पुलवामा के बाद 20 और जवान हुए शहीद, उनकी कोई चर्चा नहीं कर रहा

पुलवामा में हुए आतंकवादी हमले के बाद पूरे देश का खून उबाल मार रहा था. इस कायरतापूर्ण आतंकवादी हमले में 44 CRPF जवान शहीद हुए थे. लेकिन पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान में भारतीय वायुसेना द्वारा जैश ए मोहम्मद के कैंप की गई एयर स्ट्राईक और IAF और PAF के बीच हुई हवाई झड़पों के बाद विंग कमांडर अभिनंदन का पाकिस्तान के क़ब्ज़े में होने … पढ़ना जारी रखें पुलवामा के बाद 20 और जवान हुए शहीद, उनकी कोई चर्चा नहीं कर रहा

पाकिस्तान में लिया था आतंकी ट्रेनिंग, अब भाजपा से लड़ रहा है चुनाव

कभी  भारतीय संविधान को नकारने वाले और पाकिस्तान से आतंकवाद की ट्रेनिंग लेकर आये फारूक अहमद खान बीजेपी के टिकट से निकाय चुनाव लड़ रहे हैं। फारूक अहमद खान उर्फ सैफुल्ला पुराने शहर श्रीनगर सिटी से चुनाव लड़ रहे हैं। फर्स्ट पोस्ट  की खबर के अनुसार फारूक अहमद खान उन युवाओं में शामिल था, जिसने कश्मीर को भारत से आजाद कराने के लिए 1980 में हथियार थामे थे। … पढ़ना जारी रखें पाकिस्तान में लिया था आतंकी ट्रेनिंग, अब भाजपा से लड़ रहा है चुनाव

A Boy Whose Home Demolished in a Terrorist Attack, Tops Kashmir Civil Service Exam.

Anjum Bashir Khan has made his family proud 18 years after they were pushed out from their home by terrorists. The 27-year-old has topped the Kashmir Administrative Service exams in Jammu and Kashmir. Anjum was just nine when his home in the remote village of Surankote was set on fire after his parents resisted diktats by terrorists and refused to let his brother join them. … पढ़ना जारी रखें A Boy Whose Home Demolished in a Terrorist Attack, Tops Kashmir Civil Service Exam.

उपचुनाव में कम हुआ प्रतिशत, कश्मीर में सरकार की नाकाम कोशिशों का नतीजा है

कल सोशलमीडिया पर एक पोस्ट देख रहा था, जिसमे कश्मीर में चुनाव के बाद ड्यूटी से लौटते हुए जवानों के साथ कश्मीरी लड़को की बदतमीज़ी का वीडिओ था, जिसे देख कर बहुत अफ़सोस हुआ। किस तरह से ये लड़के अपने सियासी आकाओं के बहकावे में अपनी ज़िन्दगी और मौत का सौदा कर रहे हैं. शायद वे नहीं जानते कि वे क्या हासिल कर रहे हैं? … पढ़ना जारी रखें उपचुनाव में कम हुआ प्रतिशत, कश्मीर में सरकार की नाकाम कोशिशों का नतीजा है