हिंदी दिवस विशेष – भाषा नहीं सिखाती किसी से बैर रखना

ये भी गज़ब है कि हिन्दी दिवस पर दो गुट एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगाते हैं। पहले हिन्दी माध्यम से पढ़े जो बोलते हैं कि हिन्दी दिवस पर सबसे ज़्यादा बधाईयां वे ठेलते हैं जिनको पता ही नहीं समबाहु विषमबाहु राक्षस हैं या ज्यामितीय संरचनाएं। कभी पढ़े होते हिन्दी माध्यम से तो समझते पीड़ा। दूसरे कॉन्वेंट ब्रांड हैं जो कहते हैं कि हिन्दी बोलने … पढ़ना जारी रखें हिंदी दिवस विशेष – भाषा नहीं सिखाती किसी से बैर रखना

क्या आप जानते हैं, संविधान में हिंदी को आधिकारिक भाषा का दर्जा है “राष्ट्रभाषा” का नहीं

जब हिंदी को राष्ट्रभाषा बनाने का मुद्दा संविधान सभा में उठा तो एक सुर में कई लोग इसका विरोध करना शुरू कर दिये, जिसमें दक्षिणी भारत से लेकर पूर्वोत्तर राज्यों के सदस्य थे। और उनका विरोध वाजिब था। फिर इस तर्क के साथ हिंदी को राष्ट्रभाषा नहीं बनाया गया कि “आज़ाद भारत में कोई चीज़ किसी पर थोपी नहीं जा सकती है। हिंदी ज़्यादातर उत्तर … पढ़ना जारी रखें क्या आप जानते हैं, संविधान में हिंदी को आधिकारिक भाषा का दर्जा है “राष्ट्रभाषा” का नहीं