अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर चीन और भारत के बीच खाई बढ़ती ही जा रही है

जब चीन का सरकारी मीडिया दावा करता है कि भारत में एक बार फिर से मोदी सरकार ही आएगी तो सारे मोदी समर्थक आगे बढ़ बढ़ कर यह खबर शेयर करते हैं लेकिन, जब वही चीन का सरकारी मीडिया कहता है कि मोदी सरकार अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर फेल नजर आ रही है तो मोदी समर्थक साफ कन्नी काट जाते हैं. दो दिन पहले ही … पढ़ना जारी रखें अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर चीन और भारत के बीच खाई बढ़ती ही जा रही है

क्या सरकार आर्थिक मोर्चे पर झूठे और मेन्युपुलेटेड आंकड़े पेश कर रही है?

यह सरकार भारत के इतिहास में सिर्फ झूठ बोलने ओर आंकड़ो को अपने हिसाब से मैनिपुलेट करने के लिए जानी जाएगी. कल (29 जनवरी 2019 को ) खबर आई कि वित्त वर्ष 2017-18 में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) 18 फीसद बढ़कर 28.25 लाख करोड़ रुपये हो गया, यह खबर सभी बड़े अखबारों की हेडिंग बन रही थी, लेकिन अंदर खबर पढ़ी तो पता चला कि … पढ़ना जारी रखें क्या सरकार आर्थिक मोर्चे पर झूठे और मेन्युपुलेटेड आंकड़े पेश कर रही है?

पीएम मोदी के साढ़े 4 साल में भारत पर बढ़ा 49 फीसदी क़र्ज़

कल एक हैरान करने वाली खबर आई कि पीएम मोदी के साढ़े 4 साल के कार्यकाल में भारत सरकार पर 49 फीसदी का कर्ज बढ़ा है, केंद्र सरकार ने कर्ज पर कल अपनी स्टेटस रिपोर्ट का आठवां संस्करण जारी किया जिसके मुताबिक जून, 2014 में सरकार पर कुल कर्ज 54,90,763 करोड़ रुपये था, जो सितंबर 2018 में बढ़कर 82,03,253 करोड़ रुपये हो गया है. यदि … पढ़ना जारी रखें पीएम मोदी के साढ़े 4 साल में भारत पर बढ़ा 49 फीसदी क़र्ज़

यह मामला सीधा आपकी जेब से जुड़ा हुआ है….

कहते है.. बिना आग के धुंआ नही उठता, कल रिजर्व बैंक ने भुगतान और निपटान कानूनों में बदलाव के बारे में सरकार की एक समिति की कुछ सिफारिशों के खिलाफ बेहद कड़े शब्दों वाला अपना असहमति नोट (डिसेंट नोट) सार्वजनिक किया है, इसका सरल अर्थ यह है कि खुद रिजर्व बैंक के मन में सरकार की नीयत के बारे में गहरी शंकाए है. इस विषय … पढ़ना जारी रखें यह मामला सीधा आपकी जेब से जुड़ा हुआ है….

मोदीराज में अमीरों के 3 लाख करोड़ के लोन माफ़ हुए

मोदी राज के चार साल में 21 सरकारी बैंको ने 3 लाख 16 हज़ार करोड़ के लोन माफ कर दिए हैं। क्या वित्त मंत्री ने आपको बताया कि उनके राज में यानी अप्रैल 2014 से अप्रैल 2018 के बीच तीन लाख करोड़ के लोन माफ किए गए हैं? यही नहीं इस दौरान बैंकों को डूबने से बचाने के लिए सरकार ने अपनी तरफ से हज़ारों … पढ़ना जारी रखें मोदीराज में अमीरों के 3 लाख करोड़ के लोन माफ़ हुए

गंभीर आर्थिक संकट में है देश

देश की अर्थव्यवस्था गंभीर संकट की स्थिति में है अब सभी तरफ से बुरे संकेत मिलना शुरू हो गए हैं पेट्रोल डीजल की कीमतें आसमान छू रही है और डॉलर के मुकाबले रुपया पाताल की गर्त में गिरने की ओर अग्रसर है बैंको में एनपीए की समस्या इतनी भयानक है कि कई जानेमाने बैंक दीवालिया होने कि कगार पर है, राजकोषीय घाटा लगातार बढ़ता जा … पढ़ना जारी रखें गंभीर आर्थिक संकट में है देश

नज़रिया – दिल्ली के शासकों को ना रुपये की चिंता है और ना देश की, उन्हें चिंता है तो कुर्सी की

अब जब सबके समझ में आ गया है कि माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और वित्त मंत्री अरुण जेटली से अर्थव्यवस्था नहीं संभाली जा रही, तो उसी बीच एक और नया कीर्तिमान स्थापित कर दिया है मोदी सरकार ने! रुपये की कीमत को (69.09) की एक नई ऊँचाई पर ले गए है! जो कि हिंदुस्तान के इतिहास में पहली बार हुआ है कि रुपये ने अपनी … पढ़ना जारी रखें नज़रिया – दिल्ली के शासकों को ना रुपये की चिंता है और ना देश की, उन्हें चिंता है तो कुर्सी की

इस सावधानी से सुरक्षित रहेगा आपका फ़ेसबुक डेटा?

आसान भाषा में समझिए कि जिसे आप कुछ नहीं मान रहे वो असल में कितना सीरियस मामला है। आपकी शक्ल किस एक्टर से मिलती है, आप अगले जन्म में क्या बनेंगे, आप की पर्सनैलिटी में सबसे शानदार क्या है? इस तरह के फालतू सवालों का जवाब कितना गंभीर होता है ये आप भी जानते हैं, लेकिन टाइमपास करने के फेर में आप क्लिक के बाद … पढ़ना जारी रखें इस सावधानी से सुरक्षित रहेगा आपका फ़ेसबुक डेटा?

ईज़ ऑफ लीविंग एक फ़र्ज़ी नारा है

भारत ने ईज़ ऑफ डूइंग बिजनेस में 130 पायदान से 100 वें पायदान पर जो छलांग लगाई है, उसे लेकर सवाल उठ रहे हैं। मैंने पहले भी इस पर फेसबुक पेज पर लिखा था। 12 जनवरी को विश्व बैंक के मुख्य अर्थशास्त्री पॉल रोमर ने कहा कि उनका रैकिंग से यक़ीन उठ गया है। यह कहने के बाद रोमर ने इस्तीफा दे दिया। रोमर का … पढ़ना जारी रखें ईज़ ऑफ लीविंग एक फ़र्ज़ी नारा है

बढ़ रही आर्थिक असमानता, 1 फीसदी लोगों के पास 73 फीसदी संपत्ति

देश की आय में अमीरों और गरीबों के बीच की खाई लगातार बढ़ती जा रही है. भारत के सिर्फ एक फीसदी अमीरों के पास पिछले साल सृजित कुल संपदा का 73 फीसदी हिस्सा है.सोमवार को जारी एक सर्वे रिजल्ट में देश में बढती असमानता की भयावह तस्वीर सामने आई है. इंटरनेशनल राइट्स ग्रुप ऑक्सफैम के नए सर्वे की रिपोर्ट में यह बात कही गई है. … पढ़ना जारी रखें बढ़ रही आर्थिक असमानता, 1 फीसदी लोगों के पास 73 फीसदी संपत्ति

फ़िच ने घटाया भारत की जीडीपी ग्रोथ का अनुमान

मोदी सरकार की पिछले दिनों आयी, जीडीपी ग्रोथ को लेकर सरकार के बड़े बड़े मंत्री आगे भी इसको बढ़ने के अनुमान लगा रहे थे और खुब वा! वाही लुटने का प्रयास कर ही रहे थे पर इस पर ग्रहण लगाते हुए ग्लोबल रेटिंग एजेंसी फिच ने भारत का ग्रोथ अनुमान घटा दिया है और मोदी सरकार के ग्रोथ के मोर्चे को करारा झटका लगा दिया … पढ़ना जारी रखें फ़िच ने घटाया भारत की जीडीपी ग्रोथ का अनुमान

सूरत में मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों पर मनमोहन ने की चोट

मनमोहन सिंह गुजरात में थे. कांग्रेस की तरफ से चुनाव प्रचार कर रहे थे. और दोपहर गुजरात के सूरत में व्यापारियों से मुलाक़ात की. और नोटबंदी को लेकर मोदी सरकार की आलोचना की है. इस दौरान उन्होंने कहा कि जीएसटी से टैक्स टेररिज्म आया. क्या कहा पूर्व प्रधान मंत्री ने? नोटबंदीऔर जीएसटी पर नोटबंदी के बाद लाइन में खड़े होने से 100 लोगों की मौत की बात कहते … पढ़ना जारी रखें सूरत में मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों पर मनमोहन ने की चोट

जीडीपी पर सरकार खुश, तो पी चिदंबरम ने याद दिलाया वादा

गुरुवार को ज्यों ही जीडीपी के सरकारी आंकड़े जारी हुए, सरकार की बाँहे खिल उठी. सरकारी आंकड़ों के मुताबिक देश की जीडीपी  विकास दर की  दूसरी तिमाही यानी जुलाई से सितंबर में 6.3 फीसदी रही है. इससे पहले पहली तिमाही में यह विकास दर 5.7 फीसदी के साथ तीन साल के सबसे निचले स्तर पर पहुंच गई थी जीडीपी की दूसरी तिमाही के आंकड़े जारी … पढ़ना जारी रखें जीडीपी पर सरकार खुश, तो पी चिदंबरम ने याद दिलाया वादा

रविश कुमार ने फ़ेसबुक पोस्ट से बताया नोटबंदी का असर

केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने नोटबंदी के फ़ायदे गिनाते हुए कह डाला कि इससे देह व्यापार में भी कमी आई है. उनके इस बयान के बाद उनका सोशलमीडिया में खूब मज़ाक उड़ाया गया. नोटबंदी के एक साल पूरे होने पर मोदी सरकार जश्न मनाने जा रही है. जिस कारण वह विपक्ष, बुद्धिजीवी एवं पत्रकारों के निशाने पर है. इसी बीच रविशंकर प्रसाद के बयान के … पढ़ना जारी रखें रविश कुमार ने फ़ेसबुक पोस्ट से बताया नोटबंदी का असर

अर्थव्यवस्था पर यशवंत सिन्हा के लेख के बाद घिरी मोदी सरकार

बीजेपी के कद्दावर नेता और पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा ने मोदी सरकार को जमकर कोसा. अंग्रेजी अख़बार ‘इंडियन एक्सप्रेस’ में ‘मुझे अब बोलने की आवश्यकता है’ शीर्षक से लिखे आर्टिकल में सरकार की वित्तीय नीतियों की जमकर आलोचना की.उन्होंने सरकार की डीमोनेटाइजेशन से लेकर जीएसटी पर अपनी बेबाक राय प्रकट की है. खास बात यह है कि इसी सरकार के वित्तीय विभाग में उनके … पढ़ना जारी रखें अर्थव्यवस्था पर यशवंत सिन्हा के लेख के बाद घिरी मोदी सरकार

क्या मध्यमवर्गीय और गरीबो को लेकर असंवेदनशील हो चुकी है सरकार

अब मोदी सरकार के मंत्री पूरी तरह से बेशर्मी पर उतर आए हैं आज केन्द्रीय पर्यटन मंत्री अल्फोंज कन्ननाथनम ने कहा है कि जो लोग पेट्रोल डीजल खरीद रहे हैं वो गरीब नहीं है और ना ही वो भूखे मर रहे हैं, उनका कहना है कि सरकार को गरीबों का कल्याण करना है, और इसके लिए पैसे चाहिए यानी देश के मध्यम वर्ग पर पेट्रोल … पढ़ना जारी रखें क्या मध्यमवर्गीय और गरीबो को लेकर असंवेदनशील हो चुकी है सरकार

नोटबंदी से आखिर हासिल क्या हुआ ?

08 नवंबर 2016 को नोटबंदी का एलान करते वक़्त बताया गया कि कुल 13.82 लाख करोड़ रुपये की मुद्रा प्रचलन से बाहर कर दी गई है। थर्ड डिवीज़नर सिविल इंजीनियर अनिल बोकिल और आठवीं पास अर्थशास्त्री बाबा रामदेव की सलाह पर दसवीं पास पीएम ने ज़ोर शोर से दावा किया कि इस से तीन से चार लाख करोड़ रुपये रद्दी हो जाएंगे और काला धन … पढ़ना जारी रखें नोटबंदी से आखिर हासिल क्या हुआ ?

एसबीआई के पांच सहयोगी बैंकों की विलय योजना को सरकार ने दी मंजूरी

NDTV: वैश्विक आकार का बड़ा बैंक बनाने की अपनी मंशा के तहत सरकार ने एसबीआई और इसके पांच सहयोगी बैंकों की विलय योजना को बुधवार को सैद्धांतिक मंजूरी दे दी, लेकिन भारतीय महिला बैंक के बारे में कोई फैसला नहीं किया. एसबीआई में उसके अनुषंगी बैंकों को मिलाने के प्रस्ताव पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में बुधवार को मंत्रिमंडल की बैठक में फैसला किया गया. … पढ़ना जारी रखें एसबीआई के पांच सहयोगी बैंकों की विलय योजना को सरकार ने दी मंजूरी

नोटबंदी का असर – 20000 से ज़्यादा का गिफ्ट देने पर आयकर विभाग को देनी होगी जानकारी

नोटबंदी का दंश देश के आम लोगों को ख़ासा परेशान कर रहा है, एक बाद एक आने वाले फरमानों और टैक्स नियमों से आमजन का जीना मुश्किल हो गया है , ऐसा लगता है, जैसे जान आफत में पड़ गई। लोगों ने सोचा कि 31 दिसम्बर के बाद उनकी आफत खत्म हो जाएगी लेकिन आयकर विभाग ने एक घोषणा और कर दी जिससे लोग फिर … पढ़ना जारी रखें नोटबंदी का असर – 20000 से ज़्यादा का गिफ्ट देने पर आयकर विभाग को देनी होगी जानकारी

नोटबंदी का असर, गिरेगी GDP – एचएसबीसी

नई दिल्ली:  वैश्विक वित्तीय सेवा कंपनी एचएसबीसी की एक रपट में कहा गया है कि नोटबंदी के बाद अगले 12 महीने में भारत की आर्थिक वृद्धि दर में एक प्रतिशत तक की गिरावट आ सकती और दीर्घकालिक फायदे भी बाद के सुधारात्मक कदमों पर निर्भर करते हैं. रपट के अनुसार फिलहाल नोटबंदी का मिला जुला असर देखने को मिलेगा जिसमें ‘कुछ फायदे तो कुछ नुकसान’ … पढ़ना जारी रखें नोटबंदी का असर, गिरेगी GDP – एचएसबीसी