सिर्फ प्रज्ञा ठाकुर की आलोचना करना पर्याप्त नहीं है

प्रज्ञा ठाकुर की बात करते हुए खूब विवाद हुआ कि नाथूराम गोडसे को आतंकी माना जाए या नहीं. कमल हासन ने आतंकी बताया वहीं बाकी लोग उसे बस एक हत्यारा कह रहे थे. अगर हत्यारा भी मानें तो क्या हत्यारा होना ही अपने आप में बड़ा अपराध नहीं है? क्या इसके लिए आतंकी शब्द जुड़ना जरूरी है? हमारी संसद में आधे सांसदों पर क्रिमिनल चार्जेज … पढ़ना जारी रखें सिर्फ प्रज्ञा ठाकुर की आलोचना करना पर्याप्त नहीं है