चुनाव में मेरा क़यास ग़लत निकला और गाली-ब्रिगेड सक्रिय हो गई – ओम थानवी

वैसे तो सोशलमीडिया में हर पल कुछ न कुछ सुनने को मिलता है, यदि किसी बुद्धिजीवी की बात किसी राजनीतिक पार्टी के समर्थकों या यूँ कहें सोशलमीडिया के गुंडों को पसंद न आयें तो ट्रोलिंग स्टार्ट हो जाती है. कभी ये काम भाजपा के लोग करते हैं तो काभी कांग्रेस के, इन्हें इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि जिसे ट्रोल किया जा रहा … पढ़ना जारी रखें चुनाव में मेरा क़यास ग़लत निकला और गाली-ब्रिगेड सक्रिय हो गई – ओम थानवी