शादमान चौक पर लाहौर हाईकोर्ट का फैसला और भगत सिंह

यह एक ऐसी खबर है जो तमाम जद्दोजहद और स्वार्थांधता  से भरी खबरों के माहौल में एक सुखद हवा के झोंके से समान आयी है। पछुआ हवा की तरह यह खबर सरहद पार से आयी है। यह न तो वहां के हुक़ूमत की खबर है और न ही उनके फौजी महकमे की और न ही कांटो के जंगलों की तरह पनप रहे दहशतगर्द तंजीमों की। … पढ़ना जारी रखें शादमान चौक पर लाहौर हाईकोर्ट का फैसला और भगत सिंह