जातिगत प्रताड़ना – मुंबई में आदिवासी महिला डॉक्टर ने की आत्महत्या

मुंबई से एक महिला डॉक्टर की आत्महत्या का मामला सामने आया है, जिसमें आत्महत्या की वजह सीनियर डॉक्टर्स द्वारा जातिगत भेदभाव और टिप्पणियां व अपमान बताया जा रहा है. मृतक के परिजनों की रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने आरोपियों को आत्महत्या के लिए उकसाने की धारा लगाई गई  है. दरअसल मामला ये है, कि डॉक्टर पायल तडवी मुंबई के नायर अस्पताल के टॉपिकल नेशनल … पढ़ना जारी रखें जातिगत प्रताड़ना – मुंबई में आदिवासी महिला डॉक्टर ने की आत्महत्या

आदिवासियों का मध्यप्रदेश की राजनीति में क्या रोल है ?

मध्यप्रदेश में लगभग 23 प्रतिशत आबादी आदिवासियों की है, पर विडंबना देखिये कि आज तक मध्यप्रदेश में किसी भी राजनीतिक पार्टी ने एक भी आदिवासी मुख्यमंत्री इस प्रदेश को नहीं दिए हैं. ज्ञात होकि मध्यप्रदेश के महाकौशल क्षेत्र (जबलपुर संभाग) और मालवा क्षेत्र (इंदौर एवं उज्जैन संभाग) में बड़ी आबादी आदिवासियों की निवास करती है. महाकौशल क्षेत्र के तो शासक आदिवासी ही रहे हैं, राजा … पढ़ना जारी रखें आदिवासियों का मध्यप्रदेश की राजनीति में क्या रोल है ?