नज़रिया – ध्रुवीकरण के लिए जान बूझ कर गलतफहमी फैलाई जा रही है

हम आह भी करते हैं तो हो जाते हैं बदनाम वह क़त्ल भी करते हैं तो चर्चा नहीं होता भारतीय मुसलमानों की प्रतिनिधि संस्था आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड द्वारा प्रत्येक जिले में “दारुल कुजा” या शरई अदालतों के गठन के एलान के साथ भारत की मीडिया विशेषकर चैनलों ने ऐसा दिखाने अजुर समझाने का प्रयास शुरू कर दिया है जैसे मुस्लिमों की इस संस्था … पढ़ना जारी रखें नज़रिया – ध्रुवीकरण के लिए जान बूझ कर गलतफहमी फैलाई जा रही है