घिनौनी राजनीति कर रही है भाजपा – राहुल गांधी

सिंगापुर – कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सिंगापुर के दौरे में हैं, जहाँ पर वो अलग-अलग क्षेत्र में काम कर रहे भारतीय समुदाय के लोगों से भी मुलाक़ात कर रहे हैं. उनके इन विदेशी दौरों के कई मायने निकाले जा रहे हैं. कुछ लोगों का कहना है, कि इन दौरों के ज़रिये राहुल गांधी विदेशों में बसे भारतीयों के मन में अपने लिए जगह बनाने कि … पढ़ना जारी रखें घिनौनी राजनीति कर रही है भाजपा – राहुल गांधी

आखिर ‘मंटों’ ने कम्युनिष्टों को क्यों कहा – मैं उन्हें ठग मानता हूं.

इसे  विडंबना ही कहा जाएगा कि कुछ महान शख्सियतें कागज के पन्नों पर इन्सानी जिंदगी, समाज और इतिहास की विडंबनाओं की परतों को उघाड़ने में जितनी माहिर होती हैं उनकी खुद की जिंदगी उन्हें इतना मौका नहीं देती कि वे बहुत ज्यादा वक्त तक लिखते रहें. शख्सियतों की इसी फेहरिस्त में एक नाम है- सआदत हसन मंटो.भारतीय उपमहाद्वीप के इस लेखक और उसके सृजन पर … पढ़ना जारी रखें आखिर ‘मंटों’ ने कम्युनिष्टों को क्यों कहा – मैं उन्हें ठग मानता हूं.

भारत बनाम दक्षिण अफ्रीका – दूसरा टेस्ट (पहला दिन)

भारत बनाम दक्षिण अफ्रीका के दूसरे टेस्ट मैच के पहले दिन खेल ख़त्म होने तक दक्षिण अफ्रीका ने 6 विकेट के नुकसान पर 269 रन बनाये. एडेन मरकम और हाशिम अमला ने दक्षिण अफ्रीका को दी बेहतरीन शुरुआत सलामी बल्लेबाज़ मरकम ने तेज़ गति से 94 रन बनाये जबकि टेस्ट मैच के सबसे बेहतरीन बल्लेबाजों में से एक हाशिम अमला ने 82 रन की अहम् पारी … पढ़ना जारी रखें भारत बनाम दक्षिण अफ्रीका – दूसरा टेस्ट (पहला दिन)

वृद्धाश्रम रह रहे हैं, भारत की चुनावी तस्वीर बदलने वाले ‘टीएन शेषन’

पिछले कुछ समय से चुनावों में EVM को लेकर चुवाव आयोग पर कुछ विपक्षी पार्टिया सवाल खड़े कर रही हैं. परन्तु देश में चुनाव में पारदर्शिता लाने और पूरी तरह से चुनावी सिस्टम को बदलने का श्रेय पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त टीएन शेषन को जाता है. परन्तु पिछले कुछ समय से शेषन गुमनामी की जिंदगी जी रहे हैं. 85 वर्षीय टीएन शेषन आजकल ओल्ड ऐज … पढ़ना जारी रखें वृद्धाश्रम रह रहे हैं, भारत की चुनावी तस्वीर बदलने वाले ‘टीएन शेषन’

वे डरते हैं, कि एक दिन लोग उनसे डरना बंद कर देंगे

भीमा कोरेगांव में दलितों पर हमले और उसके बाद महाराष्ट्र में घटी घटनाओं पर बयान मुझे महाराष्ट्र में एक कार्यक्रम के लिए और भी समाजसेवकों एवं बुद्धजीवियों के साथ बुलाया गया था. और हम सभी वहां मेहमान के तौर पर गए थे. मैं मुंबई और पुणे में मुझे मिले अपार समर्थन एवं प्यार को ताउम्र याद रखूंगा. मुझे वहां मौजूद लोगों के द्वारा मनुवादी ताकतों … पढ़ना जारी रखें वे डरते हैं, कि एक दिन लोग उनसे डरना बंद कर देंगे

इजरायल-फिलिस्तीन मुद्दे में भारत पर कर सकते है भरोसा – जॉर्डन

जॉर्डन के विदेश मंत्री अयमान सफादी हाल ही में दिल्ली में थे. वो अपने देश के राजा की भारत में प्रस्तावित यात्रा से पहले दोनों देशों के मध्य आयोजित द्वी-पक्षीय वार्ता में सम्मिलित हो रहे थे. उन्होंने भारतीय पत्रकार सुहासिनी हैदर को एक एक्सक्लूसिव इंटरव्यू दिया. हम उस इंटरव्यू का हिंदी अनुवाद पब्लिश कर रहे हैं. ऐसा माना जाता है कि भारत और जॉर्डन के … पढ़ना जारी रखें इजरायल-फिलिस्तीन मुद्दे में भारत पर कर सकते है भरोसा – जॉर्डन

पाकिस्तान नीति : भाजपा सरकार का दोहरा रवैया

31 दिसंबर 2017 की रात को पूरे विश्व सहित भारत में भी नववर्ष के आगमन पर हर बार की तरह हर्षोल्लास के साथ साल 2018 का स्वागत किया गया, एक दूसरे को बधाइयां और शुभकामनायें दीं, मगर कल सोशल मीडिया पर देखा गया कि कई दोस्तों ने नए साल की बधाइयों से परहेज़ कर साल के आखिरी दिन कश्मीर के पुलवामा में पाक आतंकियों द्वारा … पढ़ना जारी रखें पाकिस्तान नीति : भाजपा सरकार का दोहरा रवैया

अमरीका और इज़राईल के विरुद्ध भारत की वोटिंग के मायने

संयुक्त राष्ट्र संघ में यमन और टर्की द्वारा अमेरिका का जेरूसलम को इजराइल का राजधानी घोषित करने के विरोध में लाये गए प्रस्ताव के पक्ष में भारत ने वोट दे दिया है. इसका सीधा सा मतलब यह हुआ की भारत ने अमेरिका और इजराइल का सीधे तौर पर विद्रोह किया है. इसके सियासी मायने समझने और अंतर्राष्ट्रीय परिदृश्य के बदल जाने की सम्भावना पर हम … पढ़ना जारी रखें अमरीका और इज़राईल के विरुद्ध भारत की वोटिंग के मायने

भारत- पाकिस्तान के रिश्तों पर जमी बर्फ को तोड़ने का समय आ गया

( यह लेख मूल रूप से अंग्रेज़ी में लिखा गया था, जिसे विख्यात पत्रकार “सुहासिनी हैदर” ने “द हिंदू” अखबार के लिए लिखा था, पेश है Time for an icebreaker: on India-Pakistan relations का हिंदी अनुवाद ) 1965 के भारत-पाकिस्तान युद्ध के बाद दोनों देशों के बीच दूरियों का बढ़ते जाना लाज़मी था, लेकिन पूरी तरह से ऐसा हुआ नहीं. हालाँकि उस दौर का एक … पढ़ना जारी रखें भारत- पाकिस्तान के रिश्तों पर जमी बर्फ को तोड़ने का समय आ गया

ईरान के रास्ते अफ़गानिस्तान मदद पहुंचाएगा भारत

अमेरिकी नीति में उलझाव की वजह से क्षेत्र के एक सहायता कार्यक्रम में भारत ने ईरान के साथ साझेदारी कर अफगानिस्तान में सहायता भेजी है.ईरान के जरिए विश्वसनीय, मजबूत संपर्क के एक नए युग की शुरुआत हुई है. पाकिस्तान अपने क्षेत्र से अफगानिस्तान के लिए भारतीय मदद को इजाजत नहीं देता है. इस सहायता को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि इसे भारत … पढ़ना जारी रखें ईरान के रास्ते अफ़गानिस्तान मदद पहुंचाएगा भारत

यूएन में भारत ने दिया फ़लस्तीन का साथ, येरुशलम मुद्दे पर ट्रंप और इज़राईल को झटका

भारत ने UN में येरुशलम प्रस्ताव के विरोध करते हुए मतदान में 127 अन्य देशों का साथ दिया. यह प्रस्ताव अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के यरुशलम को इस्राइल की राजधानी के तौर पर मान्यता देने के हाल के फैसले के विरुद्ध पेश किया गया था. नौ देशों ने ट्रम्प का साथ दिया तो वहीं 35 अन्य मतदान से दूर रहे.   प्रस्ताव के विरोध … पढ़ना जारी रखें यूएन में भारत ने दिया फ़लस्तीन का साथ, येरुशलम मुद्दे पर ट्रंप और इज़राईल को झटका

समुद्र में और ताक़तवर हुआ भारत

आखिर 17 साल के लंबे इंतजार के बाद हिन्दुस्तान को समंदर में सबसे बड़ी ताकत मिलने जा रही है. भारत की समुद्री सीमा में चीन और पाकिस्तान की घुसपैठ को जवाब देने के लिए भारतीय नौसेना की पनडुब्बी आईएनएस कलवरी गुरुवार को समुद्र में उतरेगा. 1,564 टन के इस सबमरीन प्रॉजेक्ट-75 के अंतर्गत बनाया गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसके उद्घाटन के लिए गुरुवार को सुबह 11 … पढ़ना जारी रखें समुद्र में और ताक़तवर हुआ भारत

युवाओं की आकांक्षा की हत्या का राष्ट्रीय प्रोजेक्ट – रविश कुमार

भारत से अमरीका पढ़ने जाने वाले छात्रों की संख्या में इस साल 12.3 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। चीन से जाने वाले छात्रों की संख्या में 6.8 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। लगातार तीन साल से अमरीका जाने वाले भारतीय छात्रों की संख्या बढ़ती जा रहीहै। 186,267 छात्र अमरीका गए हैं। अमरीकी यूनिवर्सिटी में पचास फीसदी छात्र भारत और चीन से पढ़ रहे हैं। बिजनेस … पढ़ना जारी रखें युवाओं की आकांक्षा की हत्या का राष्ट्रीय प्रोजेक्ट – रविश कुमार

बाल दिवस विशेष- देश में बच्चे कितने सुरक्षित?

आज 14 नवम्बर है ‘बालदिवस’. वैसे भारत के  प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू का जन्मदिन. चाचा नेहरू के बच्चों से बेजोड़ लगाव था. इसलिए आज का दिन उन्हीं के संस्मरण में बालदिवस के रूप में मनाया जाता है. पर आज भी हमारे देश में प्रगति और और न्यू इंडिया के लम्बे चौड़े दावों के बावजूद बच्चों की स्थिति दयनीय बनी हुई है. उदाहरण के तौर पर … पढ़ना जारी रखें बाल दिवस विशेष- देश में बच्चे कितने सुरक्षित?

देशभक्ति या जबर्दस्ती

लोग सिर्फ 52 सैकेंड के लिए नहीं देश के लिए 52 साल भी खड़े रह सकते हैं, पर किसी की जिद और सनक को पूरा करने के लिए 52 सैकेंड भी खड़े रहना आत्मसम्मान को घायल कर देता है ! कुछ भी साबित करने का दबाब अगर एक सैकेंड के लिए भी हो तो किसी और का तो पता नहीं पर मुझे हर्गिज मंजूर नहीं … पढ़ना जारी रखें देशभक्ति या जबर्दस्ती

ये कैसा न्यू इंडिया बनाया जा रहा है

आज का वक़्त ऐसा है कि जहां अगर आप कुछ निष्पक्ष होकर बोलते हैं या लिखते हैं तो आपको किसी एक पक्ष का पक्षधर बना दिया जाएगा क्योंकि ये वो दौर नहीं है, जब पत्रकार की उठी कलम से क्रांति खड़ी हो जाया करती थी. आज अगर कोई क्रांति लिखना भी चाहे तो उसे बिका हुआ साबित करने में ज्यादा वक़्त नहीं लगता. मगर फिर … पढ़ना जारी रखें ये कैसा न्यू इंडिया बनाया जा रहा है

चीन ने हमें थाली में हरा दिया

ग्लोबल हंगर इंडेक्स में भारत 100वें स्थान पर है। Fb पे ये जानकारी हम सब एक दूसरे को प्रेषित कर रहे हैं। इसका अर्थ समझा रहे हैं और इसकी भयावहता भी बता रहे हैं। ये सब हम एक दूसरे से कर रहे हैं जिसमें सभी ये जानकारी भी रखते हैं और इसकी समझ भी। इस भयावहता को हम सब आपस में लिख और शेयर कर … पढ़ना जारी रखें चीन ने हमें थाली में हरा दिया

हिंदी से ये हिकारत क्यों?

हमारी महान मातृभाषा हिंदी हमारे अपने ही देश हिंदुस्तान में रोजगार के अवसरों में बाधक है। हमारे देश की सरकार का यह रुख अभी कुछ अरसा पहले ही सामने आया था। बोलने वालों की संख्या के हिसाब से दुनिया की दूसरे नंबर की भाषा हिंदी अगर अपने ही देश में रोजगार के अवसरों में बाधक बनी हुई है तो इसका कारण हमारी सोच है। हम … पढ़ना जारी रखें हिंदी से ये हिकारत क्यों?