बुलंदशहर – पुलिस अफ़सर की हत्या के अभियुक्तों के खिलाफ रासुका क्यों नहीं लगायी गयी?

3 दिसम्बर 2018 को बुलंदशहर के स्याना कस्बे में थाना स्याना पर एक सूचना आती है कि कुछ कटी हुयी गायें खेतों में बिखरी पड़ी। एक लाइन की यह सूचना किसी भी थाने और उस जिले के एसपी डीएम के होश उड़ाने के लिए पर्याप्त थी। ऐसा नहीं है कि ऐसी सूचनाएं 2014 के बाद आयी कथित गौभक्त या गौरक्षक सरकार के बाद संवेदनशील समझी … पढ़ना जारी रखें बुलंदशहर – पुलिस अफ़सर की हत्या के अभियुक्तों के खिलाफ रासुका क्यों नहीं लगायी गयी?

क्या योगी आदित्यनाथ एक हिंदू पुलिसकर्मी के हत्यारों को सज़ा दिलवायेंगे ?

अब ये बात धीरे धीरे साफ होते जा रही है, कि बुलंदशहर में बड़ी साम्प्रदायिक घटना को अंजाम देने की तैयारी थी। मांस खाने वाला व्यक्ति मांस खाता है, यूं खेतों में लटकाता नही, कि दूर- दूर तक नज़र आये। आप ज़रा सोचियेगा, कि कोई ऐसा गौमांस लटकाकर क्यों आफ़त मोल लेगा। जो वीडियो बुलंदशहर का वायरल हो रहा है, उसमें साफ़ देखा जा सकता … पढ़ना जारी रखें क्या योगी आदित्यनाथ एक हिंदू पुलिसकर्मी के हत्यारों को सज़ा दिलवायेंगे ?

नज़रिया – बुलंदशहर घटना “हिंदू-मुस्लिम एकता” से पैदा हुई बैचेनी का नतीजा है

बुलंदशहर की घटना उस बैचेनी का नतीजा है जो हिन्दू भाइयों के सहयोग से कामयाब होने वाले बुलंदशहर इज्तिमा से पैदा हुई, हुआ यूं कि बुलंदशहर इज्तिमा की तैयारी शुरू हुई तो इज्तिमा के क्षेत्र मे पड़ने हिन्दू साहेबान के खेतों को उन्होने ख़ाली करके इस धार्मिक आयोजन के लिए जगह उपलब्ध कराई, फिर जहाँ जहाँ ज़रूरत पड़ी सहयोग किया बल्कि ख़ुद अपनी तरफ़ से … पढ़ना जारी रखें नज़रिया – बुलंदशहर घटना “हिंदू-मुस्लिम एकता” से पैदा हुई बैचेनी का नतीजा है

सवाल ये है, कि 11 वर्ष का बच्चा खुद फांसी पर क्यों चढ़ गया ?

ज़िला बुलंदशहर के गाँव गेसुपुर मे 11 वर्षीय छात्र का शव शुक्रवार की शाम को आम के बाग में पेड़ पर लटका मिला.सुबह से लापता रिहान की लाश को पेड़ पर लटके देखकर परिजन सन रह गये. पूरे गांव में कोहराम मच गया उसी बीच पुलिस घटनास्थल पर पहुच गई .और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. गांव गेसुपुर के निवासी शफीख अपने परिवार … पढ़ना जारी रखें सवाल ये है, कि 11 वर्ष का बच्चा खुद फांसी पर क्यों चढ़ गया ?