धार्मिक रैलियों में उद्दंडता से भरपूर भड़काऊ गाने क्यों ?

मुझे लगता है, कि हमारे दिलों से धर्म का सम्मान निकल गया है, हमने धार्मिक रैलियों और शोभायात्राओं और अन्य सभी धार्मिक प्रोग्रामों से भजन के महत्व को लगभग समाप्त कर दिया है. हमारा पूरा ध्यान इस बात पर केन्द्रित होता है, कि डीजे वाला भैया, समुदाय विशेष को टारगेट करके कौन सा नारे वाला गाना बजा रहा है. क्या यह धर्म का अपमान नहीं … पढ़ना जारी रखें धार्मिक रैलियों में उद्दंडता से भरपूर भड़काऊ गाने क्यों ?