भारतीय चुनावों का इतिहास – चुनावी मुद्दे, सुरक्षा बल और सैन्य कार्यवाहियां

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान जो प्रमुख मुद्दे उभर कर आये हैं उनमें एक मुद्दा सेना, सुरक्षा बल और सैनिक कार्यवाहियों का है। सुरक्षा बलों, यानी सेना, पुलिस, अर्ध सैनिक बलों पर सामूहिक चर्चा या जन चर्चा से कोई परहेज नहीं करना चाहिये क्योंकि यह सब तंत्र भी सरकार के अंग है और सुरक्षा, शांति व्यवस्था किसी भी सरकार की प्रथम प्राथमिकता होती है। पर … पढ़ना जारी रखें भारतीय चुनावों का इतिहास – चुनावी मुद्दे, सुरक्षा बल और सैन्य कार्यवाहियां

क्या नरेंद्र मोदी ने झूठ पकड़ने वाले पत्रकारों का काम बढ़ा दिया है?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन पत्रकारों का काम वाकई बढ़ा दिया है जो उनके झूठ पकड़ने लायक पढ़े लिखे हैं। बाकी तो ‘हर हर मोदी’ के जप में व्यस्त हैं और एक दिन मनोवांछित वरदान की अपेक्षा रखते हैं। सोचा था कि नेहरू के खिलाफ दुष्प्रचार के खिलाफ आज कुछ आपके काम का लिखूं लेकिन फिर मालूम पड़ा कि अफवाहबाज़ी के उस्ताद मोदी जी ने … पढ़ना जारी रखें क्या नरेंद्र मोदी ने झूठ पकड़ने वाले पत्रकारों का काम बढ़ा दिया है?

2014 में किये वादों का क्या हुआ ?

मैं आप के साथ लोकसभा चुनाव 2014 का भाजपा का संकल्प पत्र 2014 साझा कर रहा हूँ। सबका साथ सबका विकास के नारे के साथ वह चुनाव अनोखा था और उसके वादे तो और भी अलबेले थे। यह उन वादों की फेहरिस्त है। आप स्वतः तय कीजिये कि किन किन वादों का क्या हुआ और अब उन पर क्या हो रहा है। एक एक वादे … पढ़ना जारी रखें 2014 में किये वादों का क्या हुआ ?

क्या पकिस्तान के नाम पर देश को बेवकूफ़ बना रही है मोदी सरकार ?

यकीन मानिये पाकिस्तान के प्रति हालिया युद्धोन्माद का एक कारण पुलवामा हमले के साथ साथ लोकसभा चुनाव 2019 भी है। चुनाव बाद जो भी सरकार आएगी वह पाकिस्तान से बातचीत करेगी ही। यह बातचीत पाकिस्तान के प्रति अनुराग या हृदय परिवर्तन का परिणाम नहीं होगा बल्कि यह अंतराष्ट्रीय कूटनीतिक समीकरण और दोनों देशों के नाभिकीय अस्त्रों से लैस होने के कारण होगा। कूटनीति अंतर्राष्ट्रीय  परिस्थितियों, … पढ़ना जारी रखें क्या पकिस्तान के नाम पर देश को बेवकूफ़ बना रही है मोदी सरकार ?

विशेष – मेरे नारे ही, मेरा शासन हैं

आपको याद होगा कुछ दिनों पहले हम एक प्रस्तुति लेकर आये थे और हमने कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक जादूगर हैं, और हर जादूगर की तरह उन्हें हिप्नोसिस आता है. यानि कि सम्मोहन. और वो देश की जनता के बहुत बड़े हिस्से का सम्मोहन कर रहे हैं. और क्या आप जानते हैं कि इस जादूगर के कुछ नारे भी हैं. वो नारे याद … पढ़ना जारी रखें विशेष – मेरे नारे ही, मेरा शासन हैं

कौन लेगा सुरक्षा चूक ( Security failure ) की ज़िम्मेदारी ?

पठानकोट, उरी और अब पुलवामा। ये तीन हमले 2014 के बाद एनडीए सरकार में  सीधे सीधे सुरक्षा बलों पर हुए। दो तरह के हमले होते हैं। एक तो वे हमले जिनमे लक्ष्य सुरक्षा बल नहीं बल्कि नागरिक या कोई वीआईपी या कोई प्रतिष्ठान होता है। उन्हें बचाने के लिये सुरक्षा बल सामने आते हैं, जो उनका दायित्व है और वे वह हमला अपने ऊपर लेकर … पढ़ना जारी रखें कौन लेगा सुरक्षा चूक ( Security failure ) की ज़िम्मेदारी ?

पहले चोरी, फिर फोटोकॉपी और अब तीन पन्ने छूट गए हुज़ूर

इस सरकार में सबसे अधिक धर्मसंकट में अगर कोई है तो देश के अटॉर्नी जनरल और सॉलिसिटर जनरल हैं। यह धर्म संकट राफेल मामले में सुप्रीम कोर्ट में हो रही सुनवायी को लेकर है। सरकार राफेल मामले में फंसी पड़ी है। पीएमओ ने सारी प्रक्रिया को ताक पर रख कर एक डिफाल्टर पूंजीपति को दसॉल्ट का ऑफसेट पार्टनर बनाने के लिये समानांतर बातचीत की जिसकी … पढ़ना जारी रखें पहले चोरी, फिर फोटोकॉपी और अब तीन पन्ने छूट गए हुज़ूर

राफेलसौदा मामले में समानांतर बातचीत बनाम मॉनिटरिंग

कल (8 फ़रवरी ) से राफेल मामले में बवाल मचा हुआ है। रक्षा मंत्रालय की राफेल सौदे से जुड़ी फाइल जिसे बेहद गोपनीय कहा जाता है और यह कागज़ पर गोपनीय है भी उसके कुछ पन्ने की फ़ोटो जिसे देखो वही अपने मोबाइल फोन की गैलरी में ले कर टहल रहा है। अमूमन यह नोटशीट कही जाती है जो फाइल या पत्रावली के बायीं तरफ … पढ़ना जारी रखें राफेलसौदा मामले में समानांतर बातचीत बनाम मॉनिटरिंग

भारत से यूएस ट्रेड कन्सेशन वापस ले सकता है अमेरिका

अम्बानी के मोटे चुनावी चंदे की चाहत में मोदीजी ने अमेरिका को भी नाराज कर दिया है, कल खबर आई है कि अमेरिका, भारत से यूएस ट्रेड कन्सेशन वापस ले सकता है, जिसके तहत भारत के 5.6 अरब डॉलर (40 हजार करोड़ रुपए) के एक्सपोर्ट पर अमेरिका में कोई टैक्स नहीं लगता है. अगर ऐसा होता है तो भारत से एक्सपोर्ट होने वाले आइटम्स पर … पढ़ना जारी रखें भारत से यूएस ट्रेड कन्सेशन वापस ले सकता है अमेरिका

पीएम मोदी के साढ़े 4 साल में भारत पर बढ़ा 49 फीसदी क़र्ज़

कल एक हैरान करने वाली खबर आई कि पीएम मोदी के साढ़े 4 साल के कार्यकाल में भारत सरकार पर 49 फीसदी का कर्ज बढ़ा है, केंद्र सरकार ने कर्ज पर कल अपनी स्टेटस रिपोर्ट का आठवां संस्करण जारी किया जिसके मुताबिक जून, 2014 में सरकार पर कुल कर्ज 54,90,763 करोड़ रुपये था, जो सितंबर 2018 में बढ़कर 82,03,253 करोड़ रुपये हो गया है. यदि … पढ़ना जारी रखें पीएम मोदी के साढ़े 4 साल में भारत पर बढ़ा 49 फीसदी क़र्ज़

विशेष – सुप्रीम कोर्ट से क्लीन चिट मिलने के बाद भी क्यों हटाये गए आलोक वर्मा

आज राजनीतिक गलियारों में पूछा जाने वाला सबसे बड़ा प्रश्न यह है कि सुप्रीम कोर्ट से 2 दिन पहले क्लीन चिट मिलने के बाद आलोक वर्मा को क्यो मोदी सरकार ने अपने पद से हटा दिया? सीवीसी उन पर लगाए गए चार आरोप सही बता रही है तो यह बात सुप्रीम कोर्ट को क्यो नही दिखी? जिसने उच्चतम न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायधीश एके पटनायक की … पढ़ना जारी रखें विशेष – सुप्रीम कोर्ट से क्लीन चिट मिलने के बाद भी क्यों हटाये गए आलोक वर्मा

मोदीराज में अमीरों के 3 लाख करोड़ के लोन माफ़ हुए

मोदी राज के चार साल में 21 सरकारी बैंको ने 3 लाख 16 हज़ार करोड़ के लोन माफ कर दिए हैं। क्या वित्त मंत्री ने आपको बताया कि उनके राज में यानी अप्रैल 2014 से अप्रैल 2018 के बीच तीन लाख करोड़ के लोन माफ किए गए हैं? यही नहीं इस दौरान बैंकों को डूबने से बचाने के लिए सरकार ने अपनी तरफ से हज़ारों … पढ़ना जारी रखें मोदीराज में अमीरों के 3 लाख करोड़ के लोन माफ़ हुए

यह अध्यादेश असंवैधानिक है. यही नहीं संविधान के समानता के अधिकार के खिलाफ है – ओवैसी

तीन तलाक को दंडनीय अपराध बनाने संबंधी अध्यादेश को बुधवार को केंद्रीय मंत्रिमंडल ने मंजूरी दे दी है. अध्याधेश को मंज़ूरी देने के बाद केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद मीडिया से मुखातिब हुए. उन्होंने आभार व्यक्त करते हुए कहा कि मीडिया ने इस मामले को विस्तार से छापा है. इस दौरान कांग्रेस को निशाने पर लेते हुए उन्होंने आरोप लगाया कि वोट बैंक के दबाव … पढ़ना जारी रखें यह अध्यादेश असंवैधानिक है. यही नहीं संविधान के समानता के अधिकार के खिलाफ है – ओवैसी

फ़ेक न्यूज़ वाच – असली नहीं है मोदी की टोपी लगाई हुई तस्वीर

जबसे सोशलमीडिया का चलन बढ़ा है, सभी राजनीतिक पार्टियाँ अपने अपने पक्ष में फोटोशॉप का उपयोग करके जनता को गुमराह करने की कोशिश करती हैं. पूर्व में भारतीय जनता पार्टी की ऊपर गलत तस्वीरों का उपयोग करने और फोटोशॉप तस्वीरों के इस्तेमाल के आरोप लगते रहे हैं. पर फ़िलहाल खुद भाजपा फोटोशॉप तस्वीर का शिकार हो गई है. दरअसल हाल ही में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री … पढ़ना जारी रखें फ़ेक न्यूज़ वाच – असली नहीं है मोदी की टोपी लगाई हुई तस्वीर

चुनाव लड़ने के सवाल पर क्या बोले प्रशांत किशोर ?

हैदराबाद में इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस में प्रशांत किशोर ने साफ कर दिया है कि वो किसी पार्टी में शामिल होने नहीं जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि लोग तरह-तरह के कयास लगा रहे हैं कि मैं इस पार्टी में जा रहा हूं या इस पार्टी के साथ काम करने जा रहा हूं, फिलहाल ऐसा कुछ नहीं है. इस मौके पर प्रशांत किशोर ने कहा कि … पढ़ना जारी रखें चुनाव लड़ने के सवाल पर क्या बोले प्रशांत किशोर ?

नज़रिया – दलित एवं सवर्ण राजनीति के भवंर में फंसी भाजपा

दलित आन्दोलन की तर्ज़ पर इस बार मध्यप्रदेश में स्वर्ण आन्दोलन की चर्चा है. SC/ST एक्ट में बदलाव की मांग सवर्णों के द्वारा पूरी ताक़त से की जा रही है. चम्बल से लेकर महाकौशल तक, और मालवा से लेकर विंध्य तक परशुराम सेना, करणी सेना, और अन्य ब्राम्हण व राजपूत संगठन सक्रीय हो गए हैं. सभी एक सुर में पिछड़ी जातियों को दिए जाने वाले … पढ़ना जारी रखें नज़रिया – दलित एवं सवर्ण राजनीति के भवंर में फंसी भाजपा

ग्वालियर में वाजपेयी के अस्थि कलश प्रोग्राम में ऑटो से लौटे परिजन

NBT और जनसत्ता में प्रकाशित खबर के अनुसार पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियां बुधवार को मध्य प्रदेश पहुंची थीं. यहां की 10 नदियों में अस्थि विसर्जन किया गया. इस दौरान ग्वालियर में भी कार्यक्रम का आयोजन किया गया था. शिवराज सरकार द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में अटल के परिजन भी आमंत्रित किए गए थे. हैरानी की बात यह है कि कार्यक्रम खत्म होने … पढ़ना जारी रखें ग्वालियर में वाजपेयी के अस्थि कलश प्रोग्राम में ऑटो से लौटे परिजन

पूरा पढिए, क्यों राफेल मामले में कांग्रेस को अपनी जुबान काबू में रखना चाहिए?

अनिल अंबानी की राफेल के मामले में हिम्मत इतनी बढ़ गयी है कि वह कांग्रेस को लीगल नोटिस भेज रहे हैं उनका कहना है कि कांग्रेस अपनी जुबान काबू में रखे लेकिन सच मानिये इस मामले में कांग्रेस की भी पूरी गलती है. गलती ये है कि उसने सिर्फ रॉफेल डील पर ही क्यों सवाल उठाए हैं दरअसल अनिल अंबानी की कम्पनी रिलायंस डिफेंस की … पढ़ना जारी रखें पूरा पढिए, क्यों राफेल मामले में कांग्रेस को अपनी जुबान काबू में रखना चाहिए?

राफेल घोटाले पर अरुण शौरी, यशवंत सिन्हा और प्रशांत भूषण ने मोदी सरकार से किये कई सवाल

भारत का बड़े मीडिया घराने कल एक बार फिर नंगे हो गए कल शाम 5 बजे के लगभग NDA सरकार में मंत्री रहे यशवंत सिन्हा और प्रसिद्ध पत्रकार अरुण शौरी तथा उच्चतम न्यायालय के वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने संयुक्त रूप से सवाल उठाते हुए एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में फ्रांस सरकार से लड़ाकू विमान राफेल के सौदे पर मोदी सरकार से … पढ़ना जारी रखें राफेल घोटाले पर अरुण शौरी, यशवंत सिन्हा और प्रशांत भूषण ने मोदी सरकार से किये कई सवाल

मोदी और जूदेव के बिड़ला-गांधी, साक्षी बने अमर सिंह से लेकर मेहुल भाई

“वरना कुछ लोगों का आपने देखा होगा, उनकी एक फोटू आप नहीं निकाल सकते हैं किसी उद्योगपति के साथ लेकिन एक देश का उद्योगपति ऐसा नहीं है जिन्होंने उनके घरों में जाकर षाष्टांग दंडवत न किए हों, ये अमर सिंह यहां बैठे हैं, सारा हिस्ट्री निकाल देंगे। लेकिन जब नीयत साफ हो, इरादे नेक हों तो किसी के साथ भी खड़े होने से दाग नहीं … पढ़ना जारी रखें मोदी और जूदेव के बिड़ला-गांधी, साक्षी बने अमर सिंह से लेकर मेहुल भाई