“जैव विविधता सरंक्षण” चुनावी मुद्दे में शामिल क्यों नहीं किया जाता?

फ़रहाना रियाज़ ( स्वतंत्र पत्रकार) नई दिल्ली : इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मास कम्युनिकेशन (आईआईएमसी) और राष्ट्रीय जैव विविधता प्राधिकरण, चेन्नई (एनबीए) द्वारा संयुक्त रूप से जैव विविधता पर दो दिवसीय ‘राष्ट्रीय मीडिया कार्यशाला'(नेशनल मिडिया वर्कशॉप ऑन बायो-डायवर्सिटी) का आयोजन इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मास कम्युनिकेशन, दिल्ली में किया गया. आईआईएमसी के महानिदेशक डॉ के जी सुरेश, डॉ बी मीनाकुमारी, अध्यक्ष, एनबीए और, कम्युनिकेशन रिसर्च, आईआईएमसी की … पढ़ना जारी रखें “जैव विविधता सरंक्षण” चुनावी मुद्दे में शामिल क्यों नहीं किया जाता?