जलियांवाला बाग़ हत्याकांड में, 10 मिनट तक 1650 राउंड गोलियां बरसाई गईं थी

भारत के स्वतंत्रता संग्राम में जिस घटना ने देशवासियों पर सबसे ज्यादा असर डाला, वह है जलियांवाला बाग का सामूहिक हत्याकांड. 13 अप्रैल 1919  को पंजाब के अमृतसर शहर में स्तिथ जलियांवाला बाग भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के इतिहास की सबसे खूनी दास्तां का गवाह है. इस दिन ब्रिटिश लेफ्टिनेंट जनरल रेगिनाल्ड डायर ने अमृतसर के जलियांवाला बाग में बैसाखी के मौके पर रॉलेट ऐक्ट  का … पढ़ना जारी रखें जलियांवाला बाग़ हत्याकांड में, 10 मिनट तक 1650 राउंड गोलियां बरसाई गईं थी

शहीद उधम सिंह ने कुछ इस तरह लिया था जलियाँवाला बाग़ हत्याकांड का बदला

जालियांवाला बाग हत्याकांड का दिन भारतीय इतिहास के सबसे काले दिनों में से एक है. आज भी पंजाब में हुए उस नरसंहार कांड की याद कर रूह कांप उठती है. 13 अप्रैल 1919 को अमृतसर में स्वर्ण मन्दिर के निकट जलियांवाला बाग में बैसाखी के दिन रौलेट एक्ट का विरोध करने के लिए एक सभा हो रही थी. इस सभा को भंग करने के लिए … पढ़ना जारी रखें शहीद उधम सिंह ने कुछ इस तरह लिया था जलियाँवाला बाग़ हत्याकांड का बदला