विंग कमांडर अभिनंदन की सुरक्षित वापसी तक सभी राजनीतिक तमाशे बंद हों

सीमा पर तनाव है, लगता है कहीं चुनाव है यह राहत इंदौरी के एक शेर का भावार्थ है। पर यह आज सही साबित हो रहा है। कल पीएम ने खेल इंडिया एप्प ( Khel India App ) का उद्घाटन किया और आज  28 फरवरी को वे दुनिया की सबसे बड़ी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग ( World’s Biggest Video Conferencing )का दावा करने वाले एक तमाशे का उद्घाटन … पढ़ना जारी रखें विंग कमांडर अभिनंदन की सुरक्षित वापसी तक सभी राजनीतिक तमाशे बंद हों

मेजर मोहम्मद अली शाह का जैश ए मोहम्मद को खुला पत्र

19 फरवरी को मैंने सीआरपीएफ के एक पूर्व कमांडेंट हवा सिंह सांगवान का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखा गया खुला पत्र  साझा किया था, आज एक और खुला पत्र साझा कर रहा हूँ, जो मेजर मोहम्मद अली शाह द्वारा लिखा गया है, और आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद को सम्बोधित है। मैं पत्र का हिंदी अनुवाद दे रहा हूँ। यह पत्र मूलतः अंग्रेज़ी भाषा में … पढ़ना जारी रखें मेजर मोहम्मद अली शाह का जैश ए मोहम्मद को खुला पत्र

राफेल विवाद – लोकसभा में सीएजी रिपोर्ट के बाद उठते सवाल

आज लोकसभा के 2014 से 19 तक के कार्यकाल के अंतिम अधिवेशन का अंतिम दिन था और आज ही राफेलसौदा प्रकरण में सीएजी मुख्य लेखा परीक्षक की रिपोर्ट सदन में पेश की गयी। अब यह रपट लोक लेखा समिति के पास जाएगी और वे इसमे मीन मेख निकालेंगे और जो भी होगा सामने आएगा। सीएजी में रिपोर्ट जाने के पहले ही इस पर विवाद उठ … पढ़ना जारी रखें राफेल विवाद – लोकसभा में सीएजी रिपोर्ट के बाद उठते सवाल

राफेल मामले में ईमेल का चक्कर

अब एक ईमेल सामने आया है जो पहले इंडियन एक्सप्रेस के माध्यम से सामने आया फिर उसे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रेस वार्ता में दिखाया। वह ईमेल फ्रांस के एयरबस के तत्कालीन सीईओ गुलियाम फौरी की ओर से उनके एशिया सेल्स हेड मांटेक्स और फिलिप को लिखा गया है। आजतक की खबर का यह अंश पढ़े इसमे बहुत सी बातें स्पष्ट हो जाएंगी। आजतक के … पढ़ना जारी रखें राफेल मामले में ईमेल का चक्कर

राफेलसौदा मामले में समानांतर बातचीत बनाम मॉनिटरिंग

कल (8 फ़रवरी ) से राफेल मामले में बवाल मचा हुआ है। रक्षा मंत्रालय की राफेल सौदे से जुड़ी फाइल जिसे बेहद गोपनीय कहा जाता है और यह कागज़ पर गोपनीय है भी उसके कुछ पन्ने की फ़ोटो जिसे देखो वही अपने मोबाइल फोन की गैलरी में ले कर टहल रहा है। अमूमन यह नोटशीट कही जाती है जो फाइल या पत्रावली के बायीं तरफ … पढ़ना जारी रखें राफेलसौदा मामले में समानांतर बातचीत बनाम मॉनिटरिंग

कोलकाता छापा और सीबीआई के समक्ष साख का संकट

एक खबर के अनुसार, पश्चिम बंगाल के बहुचर्चित शारदा चिटफंड और रोज वैली घोटाला मामले में कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के घर छापा मारने पहुंची।  इसे लेकर सीबीआई की टीम और कोलकाता पुलिस के बीच कहासुनी और हाथापाई हो गई। बताया जा रहा है कि पुलिस ने सीबीआई टीम को राजीव कुमार के घर घुसने से रोक दिया। वहीं, ऐसी भी खबरें हैं कि … पढ़ना जारी रखें कोलकाता छापा और सीबीआई के समक्ष साख का संकट

अयोध्या – अविवादित ज़मीन के अधिग्रहण का प्रयास

जिस जमीन पर टाइटिल सूट का विवाद है, वह तो अदालत के विचाराधीन है ही। पर जिस पर टाइटिल सूट का कोई विवाद नहीं है उस जमीन को अधिग्रहित करने के लिये सुप्रीम कोर्ट से पूछना क्यों जरूरी है ? पूछना इसलिए जरूरी है कि उसपर किसी भी प्रकार के स्थायी निर्माण पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा रोक लगायी गयी है। वरिष्ठ पत्रकार प्रशांत टंडन जी … पढ़ना जारी रखें अयोध्या – अविवादित ज़मीन के अधिग्रहण का प्रयास

नेताजी सुभाषचंद्र बोस और साम्प्रदायिक राजनीति (पार्ट-2)

सुभाष बाबू 1938 के कांग्रेस अधिवेशन में कांग्रेस के अध्यक्ष बने थे। उनके अध्यक्ष बनने के बाद ही कांग्रेस में वैचारिक संघर्ष भी छिड़ गया था। वे 1921 से 1940 तक कांग्रेस में रहे। फिर उनका कांग्रेस से मोहभंग हो गया। 1939 में उन्होंने फॉरवर्ड ब्लॉक नामक दल का गठन किया जो प्रगतिशील विचारों का था। यह दल आज भी है और वामपंथी दलों के … पढ़ना जारी रखें नेताजी सुभाषचंद्र बोस और साम्प्रदायिक राजनीति (पार्ट-2)

नेताजी सुभाषचन्द्र बोस और साम्प्रदायिक राजनीति ( पार्ट-1)

सुभाष चन्द्र बोस भारतीय स्वाधीनता संग्राम के अप्रतिम योद्धा थे। योद्धा शब्द सच मे केवल उन्हीं के लिये कहा जा सकता है। अंग्रेज़ी हुक़ूमत के खिलाफ 1857 का विप्लव एक विद्रोह था जो चर्बी मिले कारतूस के मुद्दे पर अचानक भड़क उठा था। तब अंग्रेज़ उतने मज़बूत नहीं थे संख्या भी कम थी। 1885 ई में कांग्रेस के गठन के बाद और फिर महात्मा गांधी … पढ़ना जारी रखें नेताजी सुभाषचन्द्र बोस और साम्प्रदायिक राजनीति ( पार्ट-1)

देशद्रोह कानून की ऐतिहासिकता और जेएनयू मामला

संहिताबद्ध कानून अंग्रेज़ो की देन है जो ब्रिटिश न्याय प्रणाली से हमारे देश मे आयी है। प्राचीन भारतीय न्याय प्रणाली और देश के मुस्लिम हुक़ूमत में भी न्याय और विधि व्यवस्था कुछ संहिताबद्ध तो थी, पर ब्रिटिश राज में यह संहिताकरण व्यवस्थित रूप से हुआ जब शासन प्रशासन के लिये विधिवत कानून और उन कानूनों के लागू करने के लिये प्रक्रियागत कानून भी बने।1757 की … पढ़ना जारी रखें देशद्रोह कानून की ऐतिहासिकता और जेएनयू मामला

रोहित वेमुला का वो आख़िरी ख़त

गुड मॉर्निंग, आप जब ये पत्र पढ़ रहे होंगे तब मैं नहीं होऊंगा. मुझ पर नाराज मत होना. मैं जानता हूं कि आप में से कई लोगों को मेरी परवाह थी, आप लोग मुझसे प्यार करते थे और आपने मेरा बहुत ख्याल भी रखा. मुझे किसी से कोई शिकायत नहीं है. मुझे हमेशा से खुद से ही समस्या रही है. मैं अपनी आत्मा और अपनी … पढ़ना जारी रखें रोहित वेमुला का वो आख़िरी ख़त

क्या स्वच्छ भारत योजना में बड़ा भ्रष्टाचार हुआ है?

लीजिए मोदी सरकार की सबसे बड़ी उपलब्धि माने जाने वाली योजना ‘स्वच्छ भारत’ की पोल भी अब खुलने लगी है. कैग ने राजकोषीय उत्तरदायित्व और बजटीय प्रबंधन कानून 2003 के क्रियान्वयन का ऑडिट किया है जिसमें यह खुलासा हुआ है कि पिछले 5 सालों मे सरकार को 553.22 करोड़ रुपये कमिटमेंट चार्ज के रूप में देने पड़े है. आप पूछेंगे कि यह कमिटमेंट चार्ज क्या … पढ़ना जारी रखें क्या स्वच्छ भारत योजना में बड़ा भ्रष्टाचार हुआ है?

बुलंदशहर – पुलिस अफ़सर की हत्या के अभियुक्तों के खिलाफ रासुका क्यों नहीं लगायी गयी?

3 दिसम्बर 2018 को बुलंदशहर के स्याना कस्बे में थाना स्याना पर एक सूचना आती है कि कुछ कटी हुयी गायें खेतों में बिखरी पड़ी। एक लाइन की यह सूचना किसी भी थाने और उस जिले के एसपी डीएम के होश उड़ाने के लिए पर्याप्त थी। ऐसा नहीं है कि ऐसी सूचनाएं 2014 के बाद आयी कथित गौभक्त या गौरक्षक सरकार के बाद संवेदनशील समझी … पढ़ना जारी रखें बुलंदशहर – पुलिस अफ़सर की हत्या के अभियुक्तों के खिलाफ रासुका क्यों नहीं लगायी गयी?

राफेल विवाद – अदालत से संसद तक

कल से सोशल मीडिया पर एक खबर चल रही है कि  फ्रांस 580 करोड़ का एक राफेल लड़ाकू जहाज खरीद रहा है, कतर ने भी राफेल इसी के आसपास की दर पर खरीदा, पर हम खरीद रहे हैं, 1600 करोड़ में ! पहले हम भी लगभग 600 करोड़ के खरीद रहे थे, पर अब जब से अनिल अंबानी इस सौदे में आये हैं यह कीमत … पढ़ना जारी रखें राफेल विवाद – अदालत से संसद तक

विशेष – सुप्रीम कोर्ट से क्लीन चिट मिलने के बाद भी क्यों हटाये गए आलोक वर्मा

आज राजनीतिक गलियारों में पूछा जाने वाला सबसे बड़ा प्रश्न यह है कि सुप्रीम कोर्ट से 2 दिन पहले क्लीन चिट मिलने के बाद आलोक वर्मा को क्यो मोदी सरकार ने अपने पद से हटा दिया? सीवीसी उन पर लगाए गए चार आरोप सही बता रही है तो यह बात सुप्रीम कोर्ट को क्यो नही दिखी? जिसने उच्चतम न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायधीश एके पटनायक की … पढ़ना जारी रखें विशेष – सुप्रीम कोर्ट से क्लीन चिट मिलने के बाद भी क्यों हटाये गए आलोक वर्मा

ऑगस्टा वेस्टलैंड के मामले में यूपीए, एनडीए सरकारों की कार्यवाही और कुछ जिज्ञासा

ऑगस्टा वेस्टलैंड कम्पनी जिस पर रक्षा सौदे में दलाली का आरोप है के संबंध में कुछ तथ्य। यूपीए सरकार के कार्यकाल में फरवरी 2013 में,  ऑगस्टा वेस्टलैंड को दिया 12 हेलीकॉप्टरों की खरीद का सौदा यूपीए सरकार ने ख़ारिज कर दिया। यूपीए सरकार ने इस मामले की जाँच करवाई, मुकदमा दर्ज हुआ, मामले को सीबीआई के हवाले सौंप भी दिया गया। 10 फरवरी 2014 को यूपीए … पढ़ना जारी रखें ऑगस्टा वेस्टलैंड के मामले में यूपीए, एनडीए सरकारों की कार्यवाही और कुछ जिज्ञासा

क्या है नसीरुद्दीन शाह का पूरा वक्तव्य, जिस पर मचा है बवाल

नसीरुद्दीन शाह का पूरा वक्तव्य “ये जहर फैल चुका है और दोबारा इस जिन्न को बोतल में बंद करना बड़ा मुश्किल होगा खुली छूट मिल गई है कानून को अपने हाथों में लेने की. कई इलाकों में हम लोग देख रहे हैं कि एक गाय की मौत को ज़्यादा अहमियत दी जाती है, एक पुलिस ऑफिसर की मौत के बनिस्बत. मुझे फिक्र होती है अपनी … पढ़ना जारी रखें क्या है नसीरुद्दीन शाह का पूरा वक्तव्य, जिस पर मचा है बवाल

अमित शाह से जुड़े केस की जांच करने वाले अधिकारी ने दिया इस्तीफ़ा?

रजनीश रॉय ने आखिरकार इस्तीफा दे दिया आप पूछेंगे कि ये रजनीश राय कौन है? रजनीश राय गुजरात कैडर-1992 बैच के आईपीएस अधिकारी है जिन्होंने 2005 सोहराबुद्दीन शेख एनकाउंटर केस की जांच की थी ओर उस केस में गुजरात के ही दूसरे आईपीएस अधिकारी डीजी वंजारा और दूसरे पुलिसकर्मियों को ऑनड्यूटी गिरफ्तार किया था. 2014 में मोदी सरकार के केंद्र में आने के बाद रजनीश … पढ़ना जारी रखें अमित शाह से जुड़े केस की जांच करने वाले अधिकारी ने दिया इस्तीफ़ा?

वाराणसी में योगी सरकार ने तुड़वाये कई मंदिर और शिवलिंग

बनारस में आखिरी बार औरंगज़ेब के समय मे विश्वनाथ मंदिर टूटा था। उसे औरंगजेब के आदेश पर ध्वस्त कर दिया गया था। शिवलिंग अपवित्र कर दिया गया था और उस स्थान पर एक मस्ज़िद का निर्माण कर दिया गया । यह एक ऐतिहासिक तथ्य है और इसे बिना किसी किंतु परन्तु के स्वीकार करना चाहिये। यह वही धार्मिक कट्टरता का ज़हर था जिसके कारण महान … पढ़ना जारी रखें वाराणसी में योगी सरकार ने तुड़वाये कई मंदिर और शिवलिंग

राफ़ेल पर मोदी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से बोला ये झूठ

14 दिसंबर 2018 की सुबह राफेल मामले पर सुप्रीम कोर्ट का बहुप्रतीक्षित फैसला आ गया शाम तक यह भी साफ हो गया कि यह फैसला किस आधार पर लिया गया,………फैसले में कहा गया कि राफेल की कीमत से जुड़ी जानकारियां भारत के नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक (CAG) से साझा की गई थीं, जिसने बाद में लोक लेखा समिति (PAC) को अपनी रिपोर्ट सौंपी ओर उसी को … पढ़ना जारी रखें राफ़ेल पर मोदी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से बोला ये झूठ