चित्रकूट – भाजपा और बजरंग दल से है, हत्यारे का ये संबंध

मध्यप्रदेश के सतना ( Satna )जिले के चित्रकूट में एक सनसनीखेज़ मामला सामने आया है. दरअसल दो जुड़वा भाईयों का अपहरण कर हत्या कर दी गई है. यह मामला जब सामने तब प्रदेश की कांग्रेस सरकार और प्रशासन पर भारी दबाव था.

शनिवार को चित्रकूट ( Chitrakoot ) में स्कूल बस में भगवा गमछा लपेटे अपहरणकर्ताओं ने दोनों जुड़वा भाईयों को अगवा कर लिया. और बच्चों के परिजनों से 20 लाख रूपये फ़िरौती भी वसूल की. बाद में बच्चों की हत्या भी कर दी. जिसके बाद मध्यप्रदेश में क़ानून व्यवस्था पर सवाल उठाये जाने लगे थे. दोनों बच्चों के शव उत्तर प्रदेश के बांदा जिले में यमुना नदी से मिले हैं. बच्चों की लाश मिलने के बाद सतना ज़िले में तनाव का माहौल बन गया था. प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव भी किया है.

बच्चों का नाम देवांश (Dewansh) और प्रियांश (Priyansh) हैं. मीडिया में आई खबरों के मुताबिक, अपहरणकर्ताओं ने बच्चों के पिता से 50 लाख रुपये की फिरौती मांगी थी, जिसके बाद उन्होंने उन्हें 20 लाख रुपये दे भी दिया था, लेकिन शनिवार रात बच्चों के शव उत्तर प्रदेश के बांदा जिले में बबेरू इलाके के पास यमुना नदी में मिले.

मध्यप्रदेश पुलिस ( Madhyapradesh Police )ने ह्त्या के 6 आरोपियों को गिरफ़्तार कर लिया है, गिरफ़्तार युवकों में से 5 चित्रकूट ग्रामोदय विश्वविद्यालय के छात्र बताये जा रहे हैं. गिरफ्तार किए गए 6 लोगों में से 2 इंजीनियरिंग छात्रों में से एक इंजीनियरिंग छात्र बजरंग दल ( Bajrang dal )के क्षेत्रीय नेता का भाई है.

इस पूरे मामले में मध्यप्रदेश पुलिस द्वारा छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है, इन लोगों के नाम पदम शुक्ला (22), राजू द्विवेदी, लकी सिंह तोमर, रोहित द्विवेदी (24), रामकेश यादव (26) एवं पिन्टू ऊर्फ पिंटा यादव (23) को गिरफ्तार किया गया है. इस हत्याकांड का मुख्य आरोपी पदम शुक्ला चित्रकूट निवासी है और उसका छोटा भाई विष्णु कांत शुक्ला बजरंग दल का क्षेत्रीय संयोजक है.

The Madhya Pradesh Police have arrested six people in connection with the case.

भीड़ द्वारा पुलिस पर पथराव के कारण कई पुलिसकर्मी घायल हैं. इस मामले में 12 दिन तक मध्यप्रदेश पुलिस की नाकामी भी चर्चा का विषय बनी हुई है. बताया जा रहा है कि बजरंग दल नेता के दबाव और रुसूख के कारण पुलिस कार्यवाही करने में डर रही थी.

चित्रकूट के सद्गुरु पब्लिक स्कूल (Sadguru Public School Chitrakoot) से 12 दिनों पहले अपहृत हुए दो जुड़वा भाई श्रेयांश और प्रियांश की हत्या का मास्टरमाइंड पदम शुक्ला बीजेपी नेताओं का करीबी बताया जा रहा है.

ह्त्या के आरोपी के बारे में बताया जा रहा है, कि वो बीजेपी संगठन महामंत्री चंद्रशेखर द्विवेदी का करीबी है. फ़ेसबुक में पदम कांत शुक्ला द्वारा डाली गई तस्वीरों को देखने से पता चलता है, कि उसके बीजेपी के साथ ही आरएसएस के नेताओं से करीबियां हैं. आरोपी पदम कांत शुक्ला ( Padam kant Shukla)ने उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश, चित्रकूट के स्थानीय बीजेपी नेताओं और आरएसएस नेताओं के साथ फोटो पोस्ट की है.

इस पूरे मामले में मध्यप्रदेश पुलिस (Madhyapradesh police)की नाकामी सामने आई है. प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ( Kamalnath ) ने शनिवार को ही पूरे मामले में भारी नाराजगी ज़ाहिर की थी, बावजूद इसके पुलिस महकमे की रणनीति फेल रही. अपहरणकर्ताओं ने फिरौती की रकम लेने के बाद भी दोनों मासूमों की हत्या कर दी.