AMU छात्रसंघ के पक्ष में खड़े हुए अमीक जामेई

(3 मई 2018 लखनऊ) – बीते दिनों भारत के पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी के अलीगढ आगमन पर जिस तरह कैम्पस में दक्षिणपंथी ताक़तों ने हथियार लहराते हुए द्वेष का माहौल बनाया इस विषय पर सामाजिक न्याय की पक्षधर आवाज़ युवा अमीक जामेई ने ऐएमयू छात्रसंघ की साथ खड़े होते हुए युवा वाहिनी के दंगाई सदस्यों की गिरफ्तारी की मांग और पुलिस द्वारा छात्रसंघ के विरोध करने पर पुलिसिया बर्बरता की भार्त्न्सना की है!

अमीक जामेई ने कहा हामिद अंसारी हो या शम्भूलाल द्वारा राजस्थान में मुसलमान मजदूर की हत्या इन दोनों मामले से पता चलता है की वो अल्पसंख्यको पर क्रूर हमले कराके देश को बाँट रही है लेकिन जनता उसके झांसे में फंस नहीं रही है जिससे पता चलत है की भाजपा-संघ आखरी सांस गिन रही है उसे पता है की जिस वादे के साथ उसने देशवासियों को झांसे में लिया था जनता उसे पहचान रही है इसलिए जनता के विवेक को भटकाने के लिए वो भारत-पकिस्तान, लव जिहाद, सर्जिकल स्ट्राइक, हिन्दू-मुस्लिम की बायनरी खींच किसान मजदूर बरोजगारो का ध्यान असल मुद्दे से हटाना चाह रही है जिसके बावजूद वोह असफल हो रही है इसलिए वोह ऐसे हमले प्लान कर अंजाम दे रही है जो भविष्य में और बढ़ेंगे इसलिए ज़रूरी है की छात्र-युवा AMUSU इस आन्दोलन को सस्टेन करने की रणनीति बनाए!

पत्रकारों से बात करते हुए अमीक जामेई ने कहा, AMU में RSS का मुद्दा, जिन्ना की तस्वीर का मुद्दा उस समय उभारा गया जब भारत के उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी AMU में पधार रहे थे, जामेई ने कहा की इस देश में उप-राष्ट्र्रपति हामिद अंसारी को भी मेरी मौजूदगी में पहले सुदर्शन चैनल द्ववारा पकिस्तान भेजने की बात कही जा चुकी है जिसके एवज़ मे चैनल को सुचना प्रसारण मंत्रलाय से लिखित माफ़ी मांगनी पड़ी थी, जामेई ने कहा की छात्र संघर्ष का  रास्ता इख़्तियार करे और देश में चल रहे विश्विद्यालय से जुड़े आन्दोलन के साथ मिलकर आन्दोलन खडा करे!

AMUSU को अमीक जामेई ने कहा की छात्र नेताओं की मालूम होना चाहिए की इस देश में चाहे वोह एससी, एसटी, ओबीसी, या प्रगतिशील ताक़ते हो उनका दुशमन RSS एक है, और संघ के खिलाफ लड़ाई खाने खाने में लड़कर नहीं जीती जा सकती, छात्र नेता देश के युवा-छात्र नेताओं के फेथ-सेक्ट-रिलीजन देख साथ उठने बैठने की शर्त रखेंगे तो अलीगढ़ को दुशमन ताक़ते टुकड़े कर देंगी इस लिए यह सही समय है की छात्र-युवा से जुड़े मुद्दों को  AMUSU बड़ा दिल करके लीड करे और विपक्ष के युवा नेता श्री राहुल गाँधी, श्री अखिलेश यादव और श्री तेजस्वी यादव सहित छात्र नेताओ को कैम्पस में आने का निमंत्रण दे, उन्होंने कहा अगर AMUSU ने उन्हें आन्दोलन में बुलाया तो वोह उस संघर्ष में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेंगे!

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.