पहले भूख से बच्ची की जान गयी, अब गाँव वालों और दबंगों ने धमकाया

देश की आर्थिक स्थिति की ख़बर हो या भूख मिटाने संबंधित ख़बर, हर क्षेत्र में भारत पिछड़ता ही जा रहा है. क्या आपने कभी गौर किया क्यों? नहीं किया होगा, हाँ हम ये ज़रूर गौर कर लेते हैं, कि किस ख़बर के सामने आने से और पीड़ितों के सामने आने से देश, राज्य, शहर या गाँव का नाम बदनाम हो रहा है. कुछ दिन पूर्व … पढ़ना जारी रखें पहले भूख से बच्ची की जान गयी, अब गाँव वालों और दबंगों ने धमकाया

धर्म रक्षा नहीं, बल्कि जनता के लिये सुविधाओं को मुहैया कराना सरकारों का काम है

एक बहुत बड़ी साज़िश चल रही है हमारे देश में। मुसलमानों के धर्म पर ऊँगली उठाओ। वो बदले में हिंदुओं के धर्म पर सवाल करेंगें। पूरे देश के मुसलमान एक जगह हो जाएँगे और हिंदू एक जगह और एक दूसरे के धार्मिक, राजनैतिक व वैचारिक दुश्मन बन इस तरह से हम सब अपने अपने धर्म के रखवाले तो बन जाएँगे पर हमारा भारत बिखर जाएगा। … पढ़ना जारी रखें धर्म रक्षा नहीं, बल्कि जनता के लिये सुविधाओं को मुहैया कराना सरकारों का काम है

करुणा और ममता के सागर से भरी होती है “मां”

एक ऐसा शब्द जिसमे संसार की करुणा और ममता का सागर भरपूर मात्रा में हमेशा भरा रहता है । जिसकी कीमत न कोई चुका पाया है और न चुका पायेगा । माँ भी वही  इंसानी हाड़ की एक शाखा है  जो वही  दो आँख, दो पैर , नाक,  रूप व चाल ढाल ,शारीरिक संरचना , बुद्धिमत्ता और अनेको समान संरचना का जीता जागता उदहारण है … पढ़ना जारी रखें करुणा और ममता के सागर से भरी होती है “मां”

हिमाचल में सुखराम आ रहे हैं, अयोध्या में श्री राम आ रहे हैं – रविश कुमार

NDTV के पत्रकार रविश कुमार ने अपने फ़ेसबुक पेज पर एक पोस्ट करते हुए, वर्तमान राजनीति की ख़स्ता हालत पर एक पोस्ट की है. उन्होंने भाजपा के हर प्रोग्राम को इवेंट बनाने और भ्रष्ट सुखराम और राजनीति में धर्म के नाम का उपयोग करने पर हमला बोलते हुए भाजपा और अन्य पार्टियों को कटघरे में खड़ा किया है. देखें क्या लिखा है, रविश कुमार ने … पढ़ना जारी रखें हिमाचल में सुखराम आ रहे हैं, अयोध्या में श्री राम आ रहे हैं – रविश कुमार

एक बांगला कविता जिसका हिंदी अर्थ है – “भात दे हरामज़ादे”

बांग्लादेश के कवि रफीक़ आज़ाद की एक कविता का शीर्षक है ‘भात दे हरामज़ादे’. रफीक़ की मूल बांग्ला कविता का हिंदी अनुवाद 1990 में ज्ञानरंजन की पत्रिका ‘पहल’ के 39वें अंक में प्रकाशित हुआ था. ‘पहल’ के उस खास अंक में पैंतालीस बाँग्लादेशीय कवियों की 103 कविताओं के साथ वहाँ के साहित्यकार बदरुद्दीन उमर के पाँच महत्वपूर्ण लेख शामिल हैं. उस पूरे बांग्लादेशीय कविता-अंक के … पढ़ना जारी रखें एक बांगला कविता जिसका हिंदी अर्थ है – “भात दे हरामज़ादे”

इंदिरा और वीपी सिंह बाद केदारनाथ के दर्शन करने वाले तीसरे पीएम बने मोदी

आज शुक्रवार (20 नवम्बर) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केदारनाथ मंदिर पहुंचे, प्रधानमंत्री के केदारनाथ धाम के इस दौरे को हिमाचल और गुजरात चुनाव में धार्मिक वोटर्स को लुभाने की प्रक्रिया के तौर पर देखा जा रहा है. कहा जा रहा है, कि गुजरात में 20 साल के शासन के बाद बन रही एंटीइन्कंबेसी और हिमाचल में कांग्रेस के द्वारा उम्मीदवार घोषित किये जाने के बाद … पढ़ना जारी रखें इंदिरा और वीपी सिंह बाद केदारनाथ के दर्शन करने वाले तीसरे पीएम बने मोदी

अब वो दीवाली नहीं आती !

बहुत दिनों बाद कुछ लिखा है, आज 17 तारीख है और परसो है दीपावली और हमारी भाषा में दीवाली,जबसे बारहवीं की परीक्षा पास की और उसके बाद दिल्ली में आया था तो बड़ी चकाचौंध थी यहाँ, मेट्रो में सब कुछ नया था,ठंडी ठंडी हवा चल रही अंदर और सब लोगों के पास बड़े फोन और उनमें लगे इयरफोन या हमारी भाषा में लीड यहाँ की … पढ़ना जारी रखें अब वो दीवाली नहीं आती !

ताज और योगी सरकार

भाजपा सरकार का अपना पूर्व निर्धारित बहुआयामी एजेंडा है जिसका लक्ष्य विपक्ष और जनता को मेनस्ट्रीम राजनीति से अलग रख कर भर्मित करते रहना है । जिसका प्रामाणिक उदहारण हम पिछले 3 तीन सालो से लगातार देखते आ रहे है अब चाहे वो राम मन्दिर का बहुमूल्य मामला हो जो 2019 के लिए पहले से ही पैंडिंग में रखा गया है , देश की अर्थव्यवस्था … पढ़ना जारी रखें ताज और योगी सरकार

Mother’s Battle against Saffron System

Today Monday 16th Oct was very important for Najeeb’s Ammi. After 30 Hrs long protest at CBI headquarters and verbal request and assurance by CBI DIG Mr. Daljeet Singh all were very hopeful for today’s hearing in Delhi High Court no 33. Around 11:00 am hearing of the case started and CBI’s Lawyer submitted the same report as earlier. It came as a shock to … पढ़ना जारी रखें Mother’s Battle against Saffron System

जेएनयू के छात्र नेता की आप बीती, कहा- “मुस्लिम होता तो यूपी पुलिस वाले एंकाउंटर कर डालते”

बीते 15 अक्टूबर को दिल्ली से सटे फ़रीदाबाद से एक जेएनयू छात्र नेता को बंदूक की नोक पर उत्तरप्रदेश पुलिस ने उठा लिया. छात्र नेता प्रदीप नरवाल का गुनाह ये था, कि वो जेएनयू के छात्र नेता हैं,  और भीम आर्मी के एक प्रोग्राम में शामिल हुए थे. दलित एवं मुस्लिमों पर होने वाले अत्याचारों के विरुद्ध कार्य कर रहे  प्रदीप नरवाल पूर्व में एबीवीपी … पढ़ना जारी रखें जेएनयू के छात्र नेता की आप बीती, कहा- “मुस्लिम होता तो यूपी पुलिस वाले एंकाउंटर कर डालते”

रवीश होने में जोखिम बहुत हैं

सलीम अख्तर सिद्दीकी – जरा याद कीजिए आपने यह कब देखा था कि कोई रिपोर्टर सत्ताधारी पार्टी के अध्यक्ष के बेटे के बारे में कोई खबर लिखे और रिपोर्टर पर 100 करोड़ का मानहानि का मुकदमा दायर हो जाए? कितने लोगों को यह पता था कि इसी रिपोर्टर रोहिणी सिंह ने सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा और डीएलएफ के बीच होने वाली डील का … पढ़ना जारी रखें रवीश होने में जोखिम बहुत हैं

ताजमहल पर भड़काऊ टिप्प्णी, गुजरात चुनाव के पहले ध्रुवीकरण की कोशिश तो नहीं

यूपी के सरधना से भाजपा विधायक व मुज्ज़फरनगर दंगों के आरोपी संगीत सोम ने विश्व में भारत को ख्याति दिलाने वाले सात अजूबों में से एक ताज महल पर विवादित बयान दिया है. सोम ने अपनी विवादित कथनी के तहत कहा – कि ताजमहल भारतीय संस्कृति पर धब्बा है. पिछले रविवार दिनांक 15 अक्टूबर को सोम ने ज़हर उगलते हुए कहा “कि ताजमहल बनाने वाले … पढ़ना जारी रखें ताजमहल पर भड़काऊ टिप्प्णी, गुजरात चुनाव के पहले ध्रुवीकरण की कोशिश तो नहीं

भाजपा के पास महत्वपूर्ण मुद्दों से ध्यान भटकाने का एकमात्र साधन “राम” जी हैं

अयोध्या में राम मंदिर बनने के अभी कोई आसार नहीं है इसलिए तब तक के लिए राम की मूर्ति से काम चलाया जाए पढ़ना जारी रखें भाजपा के पास महत्वपूर्ण मुद्दों से ध्यान भटकाने का एकमात्र साधन “राम” जी हैं

व्यक्तित्व – जानिये सर सैयद सुल्तान अहमद को, जो पटना विवि के पहले वाईस चांसलर थे

24 दिसंबर 1880 को बिहार के जहानाबाद ज़िले के पाली गांव मे पैदा हुए सर सैयद सुलतान अहमद भारत के उन चुनिन्दा वकीलों मे से हैं जिन्होने अपने वक़्त के तमाम बड़े वकीलों को हरा दिया और इनसे वकालत मे हारने वाले कुछ बड़े नाम हैं ” प. मोती लाल नेहरु _ सरत चंद्रा बोस _ तेज बहादुर सपरु वग़ैरा… वे सैयद ख़ैरात अहमद और … पढ़ना जारी रखें व्यक्तित्व – जानिये सर सैयद सुल्तान अहमद को, जो पटना विवि के पहले वाईस चांसलर थे

पिता को गुंडों ने मार दिया था, अब बेटी बनी है जज

ख़बर उत्तरपरदेश से है, जहां एक मुस्लिम लड़की अंजुम सिफ़ी ने अपने पिता के सपने को 25 साल बाद पूर्ण किया है. अंजुम सैफ़ी के पिता को उगाही करने वाले गुंडों ने मुज़फ्फरनगर में सन् 1992 में गोलियों से सिर्फ़ इसलिये भून डाला था कि वो उनके सामने तन कर खड़े हो गये थे, तब अंजुम सैफ़ी की उम्र सिर्फ़ चार साल थी . 25 … पढ़ना जारी रखें पिता को गुंडों ने मार दिया था, अब बेटी बनी है जज

ये कैसा न्यू इंडिया बनाया जा रहा है

आज का वक़्त ऐसा है कि जहां अगर आप कुछ निष्पक्ष होकर बोलते हैं या लिखते हैं तो आपको किसी एक पक्ष का पक्षधर बना दिया जाएगा क्योंकि ये वो दौर नहीं है, जब पत्रकार की उठी कलम से क्रांति खड़ी हो जाया करती थी. आज अगर कोई क्रांति लिखना भी चाहे तो उसे बिका हुआ साबित करने में ज्यादा वक़्त नहीं लगता. मगर फिर … पढ़ना जारी रखें ये कैसा न्यू इंडिया बनाया जा रहा है

Hunger index- China,Nepal, Bangladesh leave behind us on hunger battle

According to a recently published joint report by the International Food Policy Research Institute (IFPRI), Concern Worldwide, and Welthungerhilfe on Global Hunger Index (GHI) demonstrates that India acquired the 100th place among the 119 countries. With the comparison of the last year, India lagged by the three position. The country’s hunger level is driven by high child malnutrition and underlines the need for stronger commitment to the social sector, … पढ़ना जारी रखें Hunger index- China,Nepal, Bangladesh leave behind us on hunger battle

गुरमेहर कौर को TIME ने बताया ” फ्री स्पीच वारियर”

कारगिल शहीद मनदीप सिंह हैरी की बेटी गुरमेहर कौर दिल्ली यूनिवर्सिटी की छात्रा हैं. वह पंजाब के जालंधर की रहने वाली हैं. फ़िलहाल ग्रेजुएशन पूरी कर रही हैं, साथ ही ‘मूवमेंट ऑफ फ्रीडम’ नाम की किताब भी लिख रही हैं. पढ़ना जारी रखें गुरमेहर कौर को TIME ने बताया ” फ्री स्पीच वारियर”

चीन ने हमें थाली में हरा दिया

ग्लोबल हंगर इंडेक्स में भारत 100वें स्थान पर है। Fb पे ये जानकारी हम सब एक दूसरे को प्रेषित कर रहे हैं। इसका अर्थ समझा रहे हैं और इसकी भयावहता भी बता रहे हैं। ये सब हम एक दूसरे से कर रहे हैं जिसमें सभी ये जानकारी भी रखते हैं और इसकी समझ भी। इस भयावहता को हम सब आपस में लिख और शेयर कर … पढ़ना जारी रखें चीन ने हमें थाली में हरा दिया

अपने ही देश की तल्ख़ सच्चाई से रूबरू कराता ये सफ़र

दोपहर हो चली है और उमरिया स्टेशन पर उतर कर हम जेनिथ के दफ्तर पहुंचे है. यहाँ साथी बिरेन्द्र इंतज़ार कर रहे है और हम नहाकर और थोड़ा सा नाश्ता करके गाँव की ओर निकल पड़ते है. रास्ते में बिरेन्द्र ने बताया कि अभी तक हम लोग नौ गाँव तक पहुंच चुके है. काफी सीख मिल रही है और यह हम सबके लिए मात्र यात्रा … पढ़ना जारी रखें अपने ही देश की तल्ख़ सच्चाई से रूबरू कराता ये सफ़र