फतह-ए-मक्का विश्व इतिहास की अदभुत घटना

फतह-ए-मक्का विश्व इतिहास की बडी ही अदभुत घटना है। पैगम्बर मुहम्मद सल्ल. के सामने वोह सारे लोग थे, जिन्होने उन्हे सताया था, गालियां दी थीं। वोह लोग भी थे जो आपसे लडने पर उतारू थे, आपकी जान के दुशमन थे। वोह लोग भी थे जिन्होने आपके चचा को क़त्ल करके उनके कलेजे को चबाने का वहशियाना काम को अंजाम दिया था।
दुनिया ने ऐसा नज़ारा कभी न देखा था, कि सारे लोग आज सामने हैं, मुहम्म्द सल्ल. चाहते तो सबसे बदला ले लेते। मगर वहां जो हुआ शायद ही किसी फौज के मुखिया ने ये फैसला लिया हो!
दुनिया ने इतने जनरैल को देखा है, क्या कभी ऐसा हुआ है कि सभी युद्धबंदियों को माफ कर दिया गया हो? कभी नही हुआ, जबकि यहां के यद्धबंदी वोह लोग थे जो लोगों के दिलों पे राज करने वाले शख्स को मारने के लिये तरह-तरह की साज़िशें कर रहे थे। सब कि सबको एक झटके मे माफ कर दिया गया । किसी से कोई बदला नही लिया गया । ये एक ऐसी जंग थी की जिसमे कोई मारा नही गया । मक्का को दारुल अमन यानि “शांति का घर” घोषित किया गया । और ये सब उस शख्स के हाथों किया गया जिसको पूरे संसार के लिये रहमत बनाकर भेजा गया था । और इस घटना को फतह-ए-मक्का कहा गया ।

फतह-ए-मक्का विश्व इतिहास की अदभुत घटना&rdquo पर एक विचार;

  1. बहुत ज्यादा दुष्प्रचार किया जा रहा हे खाश कर आप ,,मुहम्मद मुस्तुफा स.व,अ .व.सल्लम पर और हदिशो के साथ तरह तरह से एडिट करके .कमोबेश सभी साइट्स पर और कुरान पाक की आयतों को तोड़ मरोड़ के पैश किया जा रहा हे ..क्योंकि गूगल पर या दूसरी मुस्लिम्स वेबसाइट पर कोई भी जा कर कापी पेस्ट करके कुछ भी अपनी तरफ से जोड़ देता हे ..हम इस पर भी ध्यान देना होगा ..और सही बात .गेर मुस्लिम भाइयो को बताना होगा,,अब जेहाद का भी एक गलत मायना यंहा इंटरनेट पर दिखाया जा रहा हे ..जैसे सुरः बकर का हवाला दिया जाता हे की ..कही पर भी दिखे काफ़िर तो टूट पढो और कत्ल कर दो उन्हें ..वो जब तक तुमसे सुलह का रास्ता न अख्तियार करले ….ये सरासर गलत हे ..और आज की नोजवान पीढ़ी इस बात को जल्दी तवज्जो देती हे की इस्लाम धर्म सिर्फ और सिर्फ जेहाद और कत्लो गारत ही सिखाता हे और गेर मुस्लिमो से जबरदस्ती करता हे दिने इस्लाम के बारे ..हालाकिं बहुत सारे मुस्लिम वेबसाइट इस पर काम कर रही हे ….लेकिन इंटरनेट की इतनी बड़ी दुनिया में वो नाकाफी हे ..अल्लाह आपको तोफीक दे की आप इस पर इस्लाम की सही बाते हमारे नबियों और हदिशो की सही मालूमात मुस्लिम्स नोजवान और हमारे गेर मुस्लिम नोजवान भाइयो तक सही तरीके से पहुंचा सके ….अल्लाह आपको इस दिनी काम में नेक नामी अता करे …आमीन ..

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.